DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाइटेनिक के मलबे का पहला विस्तृत नक्शा तैयार

वैज्ञानिकों ने पहली बार उत्तरी अटलांटिक सागर के नीचे रोबोट की मदद से संकलित 1300 चित्रों को मिलाकर टाइटेनिक जहाज के मलबे का विस्तृत नक्शा तैयार किया है।
 
अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि नक्शे में समुद्र में 15 मील वर्ग में फैले टाइटेनिक का मलबा उसके हिस्से तथा खाने के बर्तन जैसे टूटे पदार्थ देखे जा सकते हैं जो 15 अप्रैल 1912 को डूबे आलीशान जहाज के बारे में अधिक सुराग दे सकते हैं। बर्फ की चट्टान से टकराने के बाद टाइटेनिक के डूबने से उसमें सवार 1500 से अधिक यात्री और चालक दल के सदस्य मारे गए थे।
 
फालमाउथ के वुड्स होल आसेनोग्राफिक इंस्टीटयूट में टाइटेनिक अभियान के सह नेता डेविड गालो ने डिस्कवरी न्यूज को बताया कि यह पहला मौका है जब 1985 में टाइटेनिक को खोजे जाने के बाद उसके मलबे का नक्शा बनाया गया है, लेकिन यह अधूरा है। इसमें मलबे वाले इलाके के बिखरे टुकडों को दर्शाया गया है।
 
मलबे वाली जगह के व्यापक सर्वेक्षण का काम 2010 में एक परियोजना के तहत शुरू हुआ जिसका नेतत्व आरएमएस टाइटेनिक इन्क़ वुडस होल आसेनोग्राफिक इंस्टीटयूट और वेटट इंस्टीटयूट आफ ला जोला केलीफोर्निया ने किया। बाद में नेशनल ओसेनोग्राफिक एण्ड एटमोस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेसन (एनओएए) और हिस्ट्री चैनल ने उसमें सहयोग किया।
 
अभियान के दौरान तारपेडो के आकार के एयूवी (आटोनोमस अंडरवाटर व्हीकल) ने उच्च क्षमता वाले साइड स्कैन सोनार से व्यापक इलाके का सर्वेक्षण किया। टाइटेनिक साउथेम्पटन, इंग्लैन्ड से न्यूयार्क के लिए अपनी पहली यात्रा के दौरान डूब गया था। डूबने से पहले रिकार्ड की गई पहली जगह से करीब 13 मील दूर सितम्बर 1985 में उसके मलबे का पता लगा था।
 
नई खोज से पता लगा है कि जहाज का अगला और पिछला हिस्सा एक दूसरे से 1970 फुट की दूरी पर थे। इसका प्रसारण इस हादसे के 100 वर्ष पूरा होने के अवसर पर 15 अप्रैल को हिस्ट्री चैनल में होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टाइटेनिक के मलबे का पहला विस्तृत नक्शा तैयार