DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जहाज निर्माण उद्योग हो जाएगा 9,200 करोड़ रुपए का: ऐसोचैम

भारत का जहाज निर्माण और मरम्मत उद्योग घरेलू बाजार में जोरदार तेजी और कर्मचारियों की पर्याप्त उपलब्धता के कारण 2015 तक 9,200 करोड़ रुपए का हो जाएगा।

यह बात उद्योग संगठन ऐसोचैम की रपट में कही गई। फिलहाल उद्योग का आकार 7,310 करोड़ रुपए है। संगठन ने कहा कि 7.3 लाख करोड़ रुपए के वैश्विक जहाज निर्माण उद्योग में भारत का योगदान करीब एक फीसद है। ऐसोचैम ने कहा भारतीय जहाज-निर्माण और जहाज मरम्मत उद्योग 2015 तक 9,2000 करोड़ रुपए का हो जाएगा जो फिलहाल करीब 7,310 करोड़ रुपए का है। रपट में कहा गया श्रम की कम लागत, कुशल कर्मचारियों की उपलब्धता, घरेलू बाजार में जोरदार मांग और इस्पात उद्योग में वृद्धि कुछ ऐसे तत्व हैं जिसके कारण भारत में इस क्षेत्र की अच्छी वृद्धि की संभावना बनती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जहाज निर्माण उद्योग हो जाएगा 9,200 करोड़ रुपए का: ऐसोचैम