DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'तेल कीमतों में वृद्धि के लिए भारत-चीन जिम्मेदार'

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने तेल कीमतों में बढ़ोत्तरी के लिए भारत, चीन और ब्राजील को जिम्मेदार ठहराया है। रिपब्लिकन पार्टी इस चुनावी साल में लगातार राष्ट्रपति की असफल उर्जा नीतियों को तेल कीमतों में वृद्धि के लिए जिम्मेदार ठहरा रही है और संभवत: ओबामा ने इस तरह का बयान इन आलोचनाओं को खत्म करने के लिए दिया है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि इन देशों में वाहनों की बढ़ती मांग की वजह से तेल कीमतों में तेजी आई है। ओबामा ने कहा कि जैसे-जैसे भारत और चीन के लोग धनी हो रहे हैं वे ज्यादा कारें खरीद रहे हैं। इससे तेल कीमतें बढ़ रही हैं।
     
हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ने घरेलू मोर्चे पर उर्जा के मुद्दे से निपटने के लिए कोई कार्ययोजना पेश नहीं की। उन्होंने तेल कंपनियों को दी जाने वाली सब्सिडी को खत्म करने और स्वच्छ उर्जा में ज्यादा से ज्यादा निवेश पर जोर जरूर दिया। ओबामा ने न्यू हैम्पशायर में अपने भाषण में कहा कि दीर्घावधि तेल कीमतों में तेजी की मुख्य वजह चीन, भारत और ब्राजील जैसे देशों की मांग बढ़ना है।
    
विश्लेषकों का कहना है कि चुनावी साल में रिपब्लिकन ओबामा को हराने के लिए उर्जा मुद्दे का इस्तेमाल कर रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि सिर्फ सोचकर देखिए। पांच साल में चीन में कारों की संख्या तीन गुना से अधिक हो गई है। चीन में 2010 में एक करोड़ नई कारें सड़कों पर आईं। सिर्फ एक देश में एक साल में एक करोड़ नई कारें आई हैं। इन पर काफी तेल की खपत हो रही है।
   
ओबामा ने कहा कि चीन और भारत जैसे देशों में लोगों के पास पैसा आ रहा है और वे भी हमारी तरह कारें खरीदने लगे हैं। वे भी कारों को उसी तरह भरवा रहे हैं, जैसे हम करते हैं। इससे तेल की मांग बढ़ रही है।
    
अमेरिकी राष्ट्रपति ने हालांकि तेल कीमतों में कमी के बारे में लोगों को किसी तरह का कोई भरोसा नहीं दिलाया। उन्होंने यह जरूर कहा कि वह संसद से कह रहे हैं कि तेल उद्योग की सब्सिडी को खत्म किया जाए, जो फिलहाल 4 अरब डॉलर बैठती है।
     
ओबामा ने सभी सांसदों से कहा कि आप तेल कंपनियों के साथ खड़े हो सकते हैं, या फिर आप अमेरिका की जनता के साथ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'तेल कीमतों में वृद्धि के लिए भारत-चीन जिम्मेदार'