DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब अमेरिका ने पाक को दिखाए तेवर, रुकेगी सहायता!

पाकिस्तानी सैनिकों पर नाटो हमले पर अमेरिका के साथ तनातनी के बीच अमेरिकी कांग्रेस से क्षेत्र में आईईडी विस्फोटकों के प्रसार को रोकने के लिए पाक को दी जाने वाली 70 करोड़ डॉलर की सहायता रोकने का प्रस्ताव दिया है। यह रोक तब तक प्रभावी रहेगी जब तक पाकिस्तान इससे निपटने के लिए कारगर रणनीति नहीं बनाता।

पहले से तनावपूर्ण चल रहे अमेरिका-पाकिस्तान रिश्तों में कांग्रेस के इस कदम से और तल्खी आ सकती है। इस मामले पर रुख कड़ा करते हुए सीनेट और प्रतिनिधि सभा की एक समिति ने पाकिस्तान को दिए जाने वाले 70 करोड़ डॉलर की मदद रोकने पर सहमति जताई। यह सहमति रक्षा अनुज्ञा विधेयक (डिफेंस ऑथराइजेशन बिल)- 2012 के संदर्भ में बनी है।

पाकिस्तान पर यह सख्ती करने के साथ ही इस विधेयक का लक्ष्य ईरान के सेंट्रल बैंक को निशाना बनाना और गुआंतानामो खाड़ी की जेल को बंद करने की योजना के संदर्भ में नई बंदिशे लगाना है।

इस विधेयक पर दोनों सदनों में इसी सप्ताह मतदान होगा। राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पहले ही आगाह कर दिया है कि वह ऐसे किसी भी विधेयक पर वीटो करेंगे, जिसमें अमेरिका को निशाना बनाने वाले संदिग्ध आतंकवादियों को सैन्य हिरासत में भेजे जाने की बात होगी।

पाकिस्तान दुनिया के उन देशों में शामिल है, जिन्हें अमेरिका से बहुत ज्यादा मदद मिलती है। कांग्रेस के इस नए कदम को मंजूरी मिलने के बाद पाकिस्तान को दी जाने वाली अमेरिकी मदद का एक बेहद छोटा हिस्सा ही इस्लामाबाद तक पहुंच पाएगा।

इस कदम से दोनों देशों के रिश्तें में और तल्खी आ सकती है। नाटो हमले में पाकिस्तान के 24 सैनिकों के मारे जाने के बाद से दोनों मुल्कों के रिश्तों में पहले ही तल्खी काफी बढ़ चुकी है। कांग्रेस की समिति के इस प्रस्तावित कदम की पृष्ठभूमि आईईडी विस्फोटकों का प्रसार है। इसका इस्तेमाल आतंकवादी अफगानिस्तान में अमेरिकी और नाटो सैनिकों के खिलाफ करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब अमेरिका ने पाक को दिखाए तेवर, रुकेगी सहायता!