DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुलपति कार्यालय के बाहर हुई हिंसा की जांच होगी

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में गत मंगलवार को कुलपति कार्यालय के बाहर हुई हिंसा की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि जांच दल में डीन छात्र कल्याण के प्रोफेसर एनुल हक खान, डीन फैक्लटी ऑफ मेडिसिन एम एच बेग और फैक्लटी ऑफ इंजीरियरिंग प्रो अरशद मलिक शामिल है। प्रो मलिक जांच समिति के संयोजक होगे।
     
सूत्रों ने बताया कि कुलपति कार्यालय के बाहर गत मंगलवार को छात्रों के दो गुटो में हिंसक क्षड़प हो गयी थी। जिसमें विश्वविद्यालय के एक छात्र तौसिक कमर गोली लगने से गंभीर रुप से घायल हो गया था। जिसको जवाहर लाल मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था।
     
एमयू के अधिकारियों ने बताया कि कल तौसिक को गंभीर हालत में दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया गया जहां उसकी हालत अभी भी चिन्ताजनक बनी हुई है। एमयू छात्र यूनियन के पदाधिकारियों ने कल घटना की जांच की मांग करते हुए विश्वविद्यालय परिसर की गिरती हुई कानून व्यवस्था पर चिन्ता जाहिर की थी।
 
विश्वविद्यालय के वीसी पी के अब्दुल अजीम का कार्यकाल पिछली 17 जनवरी को समाप्त हो गया था और तब से विश्वविद्यालय की प्रशासनिक देखभाल के लिए एमयू के तीन वरिष्ठ डीन को कार्यकारी वीसी बनाया गया है। एमयू सूत्रों के अनुसार, विश्वविद्यालय के नये वीसी के चुनाव की प्रक्रिया में तकनीकी कारणों से देर हो रही है। जिससे संस्था की साख गिर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुलपति कार्यालय के बाहर हुई हिंसा की जांच होगी