DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एयर इंडिया पर ऋण बढ़कर 43,000 करोड़ हुआ: रवि

सरकार ने शुक्रवार को स्वीकार किया कि एयर इंडिया गहरे संकट के दौर से गुजर रही है और इसका कुल ऋण 43,000 करोड़ रुपये पहुंच गया है। हालांकि, सरकार को उम्मीद है कि वह प्रबंधन और कर्मचारियों के सक्रिय सहयोग से इस घाटे को खत्म करने में समर्थ होगी।

नागर विमानन मंत्री व्यालार रवि ने कहा कि एयर इंडिया को पिछले तीन से चार साल में 18,000 करोड़ रुपये का सकल शुद्ध नुकसान हुआ है। सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी की ऋणग्रस्तता का ब्योरा देते हुए उन्होंने कहा कि नए विमान खरीदने की वजह से एयर इंडिया पर बकाया ऋण 20,000 करोड़ रुपये है, जबकि कंपनी ने परिचालन के उद्देश्य से 20,000 करोड़ रुपये ऋण ले रखा है।

हालांकि, रवि ने उम्मीद जताई कि सरकार प्रबंधन एवं कर्मचारियों के सक्रिय सहयोग से कंपनी को संकट से उबारने और घाटा खत्म करने की स्थिति में होगी। कंपनी की आय बढ़ने से उम्मीद की किरण दिखी है और सरकार का उद्देश्य इसे दोगुना करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एयर इंडिया पर ऋण बढ़कर 43,000 करोड़ हुआ: रवि