DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आडवाणी ने की कैश फॉर वोट की इमरजेंसी से तुलना

एचटी लीडरशिप समिट में बोलते हुए लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि कैश फॉर वोट घोटाला भारतीय लोकतंत्र पर उतना ही बड़ा धब्बा है, जितना 1975-77 के काल में इमरजेंसी।

उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में सिर्फ दो ऐसे शर्मिंदगी भरे पल रहे, एक 1975-77 में इमरजेंसी का काल औऱ दूसरा सरकार बचाने के लिए सांसदों को रिश्वत देने की घटना। उन्होंने कहा कि इसके द्वारा एक विदेशी देश के साथ हो रहे परमाणु करार को संसद में पारित कराया गया, जिसके खिलाफ संसद का बहुमत था।

उन्होंने कहा कि जब मेरी पार्टी के तीन सांसद जिन्होंने इस स्कैंडल को दुनिया के सामने लाया और उनमें से ही दो को गिरफ्तार कर लिया गया, तो मुझे गहरा धक्का लगा। मैंने इसके खिलाफ अपना विरोध संसद में दर्ज कराया। उन्होंने कहा कि दुनिया के दूसरे लोकतांत्रिक देशों में इस तरह का काम करने वाले लोगों को सरकार कानूनी सहायता दी जाती है, न कि जेल में डाला जाता है।

उन्होंने कहा कि इसके विरोध स्वरूप मैंने सरकार को कहा कि अगर मेरी पार्टी के सांसद गलत हैं और मैंने उन्हें गलत करने से नहीं रोका तो मैं उनसे बड़ा दोषी हूं, इसलिए सरकार को मुझे जेल में डालना चाहिए। इसके बाद ही मैंने 40 दिन की जनचेतना यात्रा निकालने की घोषणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आडवाणी ने की कैश फॉर वोट की इमरजेंसी से तुलना