DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हार्डवेयर-नेटवर्किग में करियर बनाना चाहता हूं

छात्र चाहे दसवीं के हों, बारहवीं के या फिर कॉलेज के, आज हर किसी को काउंसलिंग की जरूरत है। मेरे लिए दसवीं में कौन-सी स्ट्रीम बेहतर रहेगी, बारहवीं के बाद कौन-सा कोर्स मेरे लिए मुफीद है, कॉलेज के बाद मैं इसी कोर्स में पोस्ट-ग्रेजुएशन करूं या किसी दूसरे कोर्स का कॉम्बिनेशन मेरे लिए करियर के नए आयाम खोलेगा, ऐसे अनगिनत प्रश्न हैं, जिनके संभावित विकल्पों में आप डूबते-उतराते रहते हैं। माता-पिता और दोस्त आपको सलाह तो देते हैं, पर आप उससे संतुष्ट नहीं होते। काउंसलिंग आपको इसी उहापोह से उबारती है। इसलिए अगले तीन महीने हम चुनींदा काउंसलर्स की मदद से आपके जेहन में उमड़ते-घुमड़ते ऐसे असंख्य सवालों के जवाब देंगे। चाहे तो कलम उठा हमें लिख भेजिए। हमारा पता है-काउंसलिंग, नई दिशाएं, हिन्दुस्तान, 18-20, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली या ईमेल करें naidishayen@livehindustan.com या फिर फेसबुक पर हमसे रूबरू हो जाइए। हमारा लिंक है-facebook/naidishayen (hindustan)

मैंने बीसीए किया है और हार्डवेयर-नेटवर्किग में करियर बनाना चाहता हूं।
अभिषेक कुमार, पटना

बीसीए की बदौलत आप कंप्यूटर से संबंधित सैद्घांतिक और काफी हद तक व्यावहारिक ज्ञान अर्जित कर चुके हैं। इसका फायदा निस्संदेह आपको कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्किग के क्षेत्र में मिलेगा। हमारे देश में कंप्यूटरीकरण की दिशा में अभी बहुत कुछ किया जाना है। ऐसे में आप जैसे जानकार युवाओं की मांग काफी बढ़ेगी। लेकिन स्वयं को इस प्रोफेशन का माहिर बनाने के लिए आपको समय रहते हार्डवेयर और नेटवर्किंग की लेटेस्ट ट्रेनिंग लेनी पड़ेगी। प्राय: यह ट्रेनिंग प्राइवेट कंप्यूटर ट्रेनिंग संस्थानों में ही उपलब्ध है। ट्रेनिंग में क्या कुछ  सीखना जरूरी है, इसके लिए इंटरनेट और इस क्षेत्र में कार्यरत अनुभवी लोगों से जानकारी हासिल कर सकते हैं। संस्थान का चयन करते समय अन्य बातों के अलावा यह भी ध्यान रखें कि संस्थान द्वारा अधिकाधिक प्रैक्टिकल ट्रेनिंग करवाई जाती हो और प्लेसमेंट की भी सुविधा हो।

इंटर की परीक्षा पीसीएम विषयों सहित हिंदी माध्यम से पास की है। आगे आईएएस बनना चाहता हूं। मुझे किस तरह से अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए?
भुवनेश कुमार, मथुरा

विज्ञान विषयों की पढ़ाई हिंदी माध्यम से करने से आप जीवन में अपेक्षित सफलता की ऊंचाइयों को हासिल नहीं कर सकेंगे, क्योंकि इस विषय में उच्च शिक्षा अंग्रेजी माध्यम से ही संभव है। बेहतर यही रहेगा कि आप अंग्रेजी से डरना छोड़ दें तथा समय रहते अपनी रुचि और एप्टीटय़ूड के अनुसार कोर्स तथा विषयों का चयन कर यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करने की दिशा में अभी से गंभीरतापूर्वक पहल करें। कमीशन की वेबसाइट पर इससे संबंधित समस्त जानकारियां दी गयी हैं। इस तथ्य को आपको कतई नहीं भूलना चाहिए कि राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी के प्रतिष्ठित होने के बावजूद रोजगार की भाषा अमूमन अंग्रेजी ही है। शुरुआती स्तर पर अंग्रेजी न्यूजपेपर पढ़ना, शब्द नहीं समझ आने पर डिक्शनरी देखने की आदत, रोजाना कम से कम एक पेज अंग्रेजी में लिखना, अनुवाद करने इत्यादि से काफी हद तक आप अंग्रेजी सीख सकते हैं।

दसवीं का छात्र हूं तथा लॉन टेनिस में करियर बनाना चाहता हूं। इसकी ट्रेनिंग कहां से संभव है?
सुधांशु सुदर्शन, बिहार

देश के कई नामी टेनिस प्लेयर्स ने युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए टेनिस एकेडमियों की शुरुआत की है, इनमें खासतौर से विजय अमृतराज, महेश भूपति, जयदीप मुखर्जी, रामानाथन-रमेश कृष्णन का उल्लेख किया जा सकता है। इनके अलावा कई प्रदेशों में इस तरह की एकेडमीज का संचालन राज्य सरकारों द्वारा भी किया जा रहा है। इसके लिए महाराष्ट्र स्टेट लॉन टेनिस एसोसिएशन (www.mslta.org), तमिलनाडु टेनिस एसोसिएशन, ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन (www.aitatennis.com) चंडीगढ़ लॉन टेनिस एसोसिएशन, बिहार लॉन टेनिस एसोसिएशन आदि से संपर्क किया जा सकता है। भारतीय खेल प्राधिकरण में भी लॉन टेनिस कोचिंग की सुविधा सीमित केन्द्रों में उपलब्ध है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हार्डवेयर-नेटवर्किग में करियर बनाना चाहता हूं