DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीजिंग इतिहास, बिंद्रा की नजरें अब लंदन ओलंपिक पर

ओलंपिक का व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय अभिनव बिंद्रा ने कहा कि 2008 के बीजिंग खेल इतिहास की बात हैं और उनकी नजरें इस साल लंदन में होने वाले खेलों के महाकुंभ पर टिकी हैं।

बैरकपुर में एक प्रचार कार्यक्रम के इतर बिंद्रा ने कहा कि निशानेबाजी में इस बार भारत की संभावनाएं अच्छी नजर आ रही हैं। बीजिंग में 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीतने वाले बिंद्रा ने ओलंपिक के लिए भारत की 10 सदस्यीय टीम के बारे में कहा कि अतीत इतिहास की बात है, सभी इसे भूल चुके हैं। मुझे पता है कि अतीत शानदार रहा लेकिन अब इससे कोई मदद नहीं मिलेगी। मैं वर्तमान में जीता हूं। इस बार हमारे सर्वाधिक निशानेबाज हिस्सा लेंगे। प्रत्येक खिलाड़ी चैम्पियन है और मुझे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद है।

बिंद्रा ने कहा कि वह लंदन के हालात से सामंजस्य बैठाने के लिए वह अगले माह वहां जाएंगे। तीन बार के ओलंपियन बिंद्रा ने कहा कि 2009 में बनी अभिनव बिंद्रा फाउंडेशन सही दिशा में काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि पदक ऐसी चीज है जिसे आप दीवार पर टांग सकते हो। यह एक यात्रा, एक संघर्ष का नतीजा होता है। पदक जीतने के पीछे काफी चीजें होती हैं। मेरी फाउंडेशन इन्हीं चीजों पर ध्यान दे रही है।

बिंद्रा ने इस दौरान ब्रिटेन उच्चायोग के सहयोग के तैयार खेलो भारत खेलो ओलंपिक थीम सांग भी लांच किया। यह कार्यक्रम चारण के ग्रेट ब्रिटिश स्पोर्ट्स फेस्टिवल का हिस्सा था जिसे ओलंपिक से पहले यहां लांच किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीजिंग इतिहास, बिंद्रा की नजरें अब लंदन ओलंपिक पर