DA Image
6 अप्रैल, 2020|8:21|IST

अगली स्टोरी

बिंद्रा ने आईओए चुनाव में खींचतान की आलोचना की

बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने विवादों से भरे भारतीय ओलंपिक संघ के चुनावों से पूर्व एक दूसरे के खिलाफ अभियान चलाकर खिलाड़ियों के हितों को नजरअंदाज करने के लिए देश के खेल प्रशासकों की आलोचना की।
    
म्यूनिख में एक प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहे बिंद्रा ने कहा कि वह उस समय स्तब्ध रह गए जब कुछ लोगों ने उन्हें बताया कि अगर आईओए चुनाव सरकार की खेल संहिता के मुताबिक हुए तो भारत की मान्यता रद्द की जा सकती है।
    
बीजिंग ओलंपिक में 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले इस निशानेबाज ने एनडीटीवी से कहा कि मुझे अधिक नहीं पता कि भारत में क्या हो रहा है। लेकिन मैं उस समय स्तब्ध रह गया जब किसी ने मुझे बताया कि भारत की मान्यता रद्द की जा सकती है। ऐसी स्थिति में आना शर्मनाक है।
     
उन्होंने कहा कि आईओसी अगर देश को निलंबित करता है तो अधिकारियों को नहीं बल्कि खिलाड़ियों को भुगतना पड़ेगा। ऐसा लगता है कि खिलाड़ियों का हित उनके एजेंडे में अंतिम स्थान पर है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बिंद्रा ने आईओए चुनाव में खींचतान की आलोचना की