DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत के साथ व्यापार के लिए उत्साहित है वर्जीनिया

अमेरिकी राज्य वर्जीनिया और मैरीलैंड भारतीय निवेश आकर्षित करने तथा भारत को निर्यात बढ़ाने के लिए एक दूसरे से प्रतियोगिता कर रहे हैं।

वर्जीनिया के कृषि और वानिकी मंत्री टोड पी. हेमोर ने यहां विदेशी संवाददाताओं से कहा कि वर्जीनिया और भारत के बीच काफी सम्भावनाएं हैं। उन्होंने हालांकि कहा कि भारत में प्रवेश करने में हालांकि कुछ बाधाएं हैं, लेकिन हम भारत को लेकर काफी उत्साहित हैं।

पिछले साल नवम्बर में वर्जीनिया के गवर्नर बॉब मैकडॉनेल ने भारत और इजरायल को अपने अंतर्राष्ट्रीय मार्केटिंग मिशन के लिए चुना। इसके बाद उन्होंने दिल्ली में एक कृषि व्यापार प्रतिनिधि और मुम्बई में एक सामान्य व्यापार प्रतिनिधि नियुक्त किया।

यह पूछने पर कि वर्जीनिया और मैरीलैंड में से किसने भारत को आकर्षित करने की पहले कोशिश शुरू की, हेमोर ने कहा कि मैं तो यह जानना चाहूंगा कि अमेरिका में और कौन सा राज्य है, जिसने भारतीय भूमि पर दो प्रतिनिधि नियुक्त किये हैं।

हेमोर ने मैकडॉनेल की भारत यात्रा के कुछ सप्ताह बाद मैरीलैंड के गवर्नर मार्टिन ओ’मैली के व्यापारिक दल की भारत यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि ‘हम ओ’ मैली से काफी आगे हैं। ओ’ मैली के व्यापारिक दल की भारत यात्रा में 6 करोड़ डॉलर का सौदा हुआ था।

हेमोर ने कहा कि वर्जीनिया भारत को सेब, लकड़ी के उत्पादों, सोयाबीन तेल और शराब का निर्यात कर सकता है। वर्जीनिया के आर्थिक विकास साझेदारी कार्यक्रम प्रबंधक-व्यवसाय विकास वारेन हैमर ने कहा कि कम्पनियों के लिए मैरीलैंड की तुलना में वर्जीनिया आना बेहतर है।

उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में तीसरी बार सीएनबीसी ने वर्जीनिया को अमेरिका में कारोबारी दृष्टि से सबसे अच्छा राज्य बताया है और अंतर्राष्ट्रीय कम्पनियों ने पिछले 10 सालों में वर्जीनिया में 5.6 अरब डॉलर का निवेश किया है और 34 हजार नई नौकरियों का सृजन किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत के साथ व्यापार के लिए उत्साहित है वर्जीनिया