DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंकाई भिक्षुओं ने अमेरिकी कदम का किया विरोध

राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के समर्थन में बुधवार को सैकड़ों बौद्ध भिक्षुओं ने यहां अमेरिकी दूतावास की ओर मार्च किया और अमेरिका से मांग की कि वह लिट्टे के साथ अंतिम चरण की लड़ाई के दौरान मानवाधिकार उल्लंघन के लिये श्रीलंका के खिलाफ प्रस्ताव न लायें।

शांतिपूर्ण प्रदर्शन का नेतृत्व दो प्रमुख भिक्षुओं ने किया। अमेरिकी राजदूत को संबोधित अपने ज्ञापन में भिक्षुओं ने यह कदम नहीं उठाने का आग्रह किया। भिक्षुओं का कहना था कि लिट्टे को शिकस्त देने के लिये की गयी राजपक्षे की कार्रवाई से श्रीलंकाई नागरिक शांति से रह रहे हैं। जिनेवा में मानवाधिकार के उल्लंघन के लिये प्रस्ताव लाने का अमेरिकी कदम श्रीलंका के राष्ट्रीय हित के खिलाफ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रीलंकाई भिक्षुओं ने अमेरिकी कदम का किया विरोध