DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत से और रियायतें लेने की कोशिश में पाक

पाकिस्तान अपने उत्पादों के लिए भारत से और रियायतें लेने की कोशिश करेगा क्योंकि वह एक नकारात्मक सूची की व्यवस्था अपनाने जा रहा है जिससे भारत को करीब 6,000 वस्तुओं का पाकिस्तान को निर्यात करने की अनुमति मिल जाएगी।

पाकिस्तान के वाणिज्य सचिव जफर महमूद ने गुरुवार को कहा कि एक छोटी सकारात्मक सूची के बजाय एक नकारात्मक सूची व्यवस्था की ओर रूख करने के प्रस्ताव को कैबिनेट द्वारा मंजूरी दिए जाने से भारत को व्यापार के लिहाज से सबसे तरजीही राष्ट्र का दर्जा (एमएफएन) दिये जाने का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

उन्होंने कहा कि 1,209 वस्तुओं की नकारात्मक सूची को चरणबद्ध ढंग से समाप्त करने की समयसीमा 31 दिसंबर तय की गई है। और तब तक हम भारत के साथ वार्ता जारी रखेंगे और हमारे निर्यात के लिए उनसे और रियायतें लेने की कोशिश करेंगे।

महमूद ने कहा कि हमने सलाह-मशविरा के बाद 1,209 वस्तुओं की नकारात्मक सूची तैयार की है। भारत द्वारा इन वस्तुओं का हमें निर्यात नहीं किया जा सकता। इनके अलावा, भारत से करीब 6,000 वस्तुओं के निर्यात की अनुमति होगी।

पाकिस्तान के समाचार पत्रों में लिखी गई रपटों में कहा गया है कि नकारात्मक सूची में व्यापक तौर पर ऐसे क्षेत्रों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली वस्तुएं शामिल हैं जिनके लिए भारत के साथ व्यापार से उनका एकाधिकार खतरे में पड़ सकता है।

ऐसे क्षेत्रों में वाहन कंपनियों, दवा और कपड़ा क्षेत्र शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि भारत ने पाकिस्तान को सबसे तरजीही राष्ट्र का दर्जा 1996 में ही प्रदान कर दिया था, लेकिन राजनीतिक दलों की ओर से भारी विरोध के चलते पाकिस्तान ने भारत को यह दर्जा अब तक नहीं दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत से और रियायतें लेने की कोशिश में पाक