DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनावी सफर में ओबामा को फिर याद आए बापू

अमेरिका में दोबारा राष्ट्रपति बनने का प्रयास कर रहे बराक ओबामा ने अपने दो नायकों महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला को याद करते हुए लोगों से कहा है कि फिर से सत्ता में आने पर वह इन्हीं दो शख्सियतों की तरह वास्तविक बदलाव के वादे को पूरा करेंगे।

राजनीतिक चंदा एकत्र करने की एक सभा में ओबामा ने कहा, वर्ष 2008 में जिस बदलाव के लिए हम लड़े थे, वह उस तरह नहीं हुआ, जैसा हम चाहते थे। वास्तविक बदलाव, बड़ा बदलाव हमेशा कठिन होता है।

उन्होंने कहा कि दुनिया भर में गांधी और मंडेला ने जो किया, वह कठिन था। इसमें समय लगता है। इसमें एक कार्यकाल से ज्यादा का वक्त लगता है। ऐसा करने के लिए एक से ज्यादा लोगों की जरूरत होती है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि नागरिक अधिकारों से लेकर महिलाओं को मताधिकार दिए जाने तक दुनिया के वास्तविक एवं बड़े बदलाव देखा, जो कठिन रहे और इसमें समय लगा। ओबामा ने कहा कि अमेरिका के कठिन दौरे से गुजरने के समय ऐसा बदलाव कर पाना असंभव लग सकता था, जो सभी को दिखे।

उन्होंने कहा कि बदलाव आम नागरिकों के जरिए संभव है, जो इस देश को आगे बढ़ाने को प्रतिबद्ध है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, मैं संपूर्ण व्यक्ति नहीं हूं और एक संपूर्ण राष्ट्रपति भी नहीं हो सकता। यहां नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव होना है। उन्होंने कहा कि अगर लोग उनकी मदद के लिए तैयार होंगे तो अमेरिका में बदलाव आएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनावी सफर में ओबामा को फिर याद आए बापू