DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

AIIMS में अब नहीं छानने पड़ेंगे खाक

अगर चीजें योजना के अनुसार चलीं तो एम्स में रोगियों के रिश्तेदारों और चिकित्सकों को अस्पताल में भर्ती मरीजों की देखभाल में कम असुविधाओं का सामना करना पड़ेगा।

आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में एक आपातकालीन डिस्प्ले सूचना प्रणाली (ईडीआईएस) लगाया जाएगा जो सूचना के साथ ही रोगियों के जख्म की स्थिति एवं उनकी गंभीरता, चिकित्सा योजना, चिकित्सकों की टीम, अस्पताल में उनके रूकने की स्थिति और उनकी देखभाल की योजना आदि के बारे में लगातार सूचित करेगा।

ट्रॉमा सेंटर के प्रमुख डॉ. एमसी़ मिश्रा और न्यूरोसर्जरी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. दीपक अग्रवाल ने यह योजना बनाई है। चिकित्सकों के दल और रोगियों के रिश्तेदारों के बीच समन्वय की कमी महसूस करने के बाद ईडीआईएस की योजना बनाई गई।

अग्रवाल ने कहा कि इसके पीछे का विचार है कि आपातकाल में रोगी देखभाल प्रणाली को व्यवस्थित किया जाए। आपातकालीन सेवा में काफी अफरा-तफरी मची रहती है। कई बार हमें आपातकाल में 25 से 50 रोगियों को देखना होता है। यह डिस्प्ले प्रणाली हवाई अड्डे पर सुविधा के समान है जहां उड़ानों से संबंधित सूचना दी जाती है।

रोगियों के बारे में विस्तृत जानकारी नर्स की एक टीम देगी एवं इडीआईएस सॉफ्टवेयर को पंजीकरण सॉफ्टवेयर से भी जोड़ा जाएगा। अग्रवाल ने कहा कि इससे रोगियों की देखभाल में लापरवाही की शिकायतें भी दूर होंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:AIIMS में अब नहीं छानने पड़ेंगे खाक