DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक न्यायिक आयोग के भारत आगमन पर संदेह

गृह मंत्रालय के अधिकारियों को इस बात पर संदेह है कि क्या 26 नवंबर को हुए मुंबई हमलों के सिलसिले में मुख्य व्यक्तियों के बयान दर्ज करने के लिए अदालत द्वारा नियुक्त आयोग 14 मार्च को भारत आ पाएगा।

मुंबई हमला मामले की पाकिस्तान की अदालत में सुनवाई पर विलंब को लेकर निराश, गृह मंत्रालय के अधिकारियों को इस हालिया घोषणा पर संशय है कि न्यायिक आयोग चार दिवसीय यात्रा पर भारत आएगा। आयोग के सदस्य मुंबई जाएंगे और मामले से जुड़े मुख्य लोगों से पूछताछ करेंगे।

इस्लामाबाद पिछले दो साल से कहता आ रहा है कि पाकिस्तान में मुंबई हमला मामले में चल रही न्यायिक प्रक्रिया को तार्किक निष्कर्ष तक पहुंचाने के लिए आयोग के सदस्य भारत जाएंगे और मामले के जांच अधिकारी रमेश महाले तथा मजिस्ट्रेट आरवी सावंत वाघुल के बयान दर्ज करेंगे।

जांच अधिकारी रमेश महाले तथा मजिस्ट्रेट आरवी सावंत वाघुल ने मुंबई हमले के एकमात्र जीवित आतंकवादी अजमल कसाब के इकबालिया बयान दर्ज किए थे। एक अधिकारी ने बताया कि उन्होंने कई बार तारीखों की घोषणा की, लेकिन कोई न कोई कारण बता कर भारत नहीं आए। इस बार आयोग के आने की तारीख 12 मार्च बताई गई थी लेकिन फिर उन्होंने ही समय दो दिन आगे बढ़ा कर 14 तारीख तय की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक न्यायिक आयोग के भारत आगमन पर संदेह