DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पार्टी के खिलाफ जाने पर ममता ने दी हिदायत

यात्री किराए में वृद्धि वापस लेने के अपने आदेश की रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी की ओर से अवहेलना किए जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने गुरुवार को पार्टी के विधायकों को पार्टी के रुख के खिलाफ न जाने की हिदायत दी।

तृणमूल विधायक दल की बैठक को सम्बोधित करते हुए ममता ने पार्टी से मशविरा किए बगैर रेल मंत्री त्रिवेदी द्वारा यात्री किराए में वृद्धि किए जाने पर हैरानी जताई।

बैठक में भाग लेने वाले तृणमूल के एक विधायक ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि ममता ने कहा कि पार्टी का कोई सदस्य यदि पार्टी के नियमों एवं निर्देशों को तोड़ता है तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ज्ञात हो कि ममता का यह बयान त्रिवेदी के बगावती सुर अख्तियार करने के बाद आया है। रेल मंत्री ने ममता की इच्छाओं के विपरीत यात्री किराए में वृद्धि की है।

यही नहीं, यात्री किराए में वृद्धि के बाद पार्टी द्वारा इसे वापस किए जाने की मांग और सुझावों को त्रिवेदी ने अनसुना कर दिया।

त्रिवेदी के इस रुख से नाराज ममता ने बुधवार रात प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखा। ममता ने पत्र में प्रधानमंत्री से त्रिवेदी की जगह पार्टी के सांसद मुकुल रॉय को रेल मंत्री बनाने के लिए कहा।

एक अन्य विधायक ने कहा कि बैठक में दीदी ने हैरानी जताई कि दिनेश-दा पार्टी के खिलाफ और बिना इस पर बातचीत किए यात्री किराए में वृद्धि कैसे कर सकते हैं। दीदी ने कहा कि पार्टी अनुशासनहीनता और बगावत बर्दाश्त नहीं करेगी।

विधायक के मुताबिक, दीदी ने कहा कि दिनेश-दा ने यदि राजधानी एवं प्रथम श्रेणी के किराए में वृद्धि की होती तो यह थोड़ा तर्कसंगत होता लेकिन सभी श्रेणियों में किराए में बढ़ोतरी आम-आदमी पर बोझ डालेगी। पार्टी गरीब लोगों के खिलाफ नहीं जा सकती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पार्टी के खिलाफ जाने पर ममता ने दी हिदायत