DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिम जाने के फंडे

यदि आप मसल-वसल बनाने के लिए जिम जाने के शौकीन हैं या आपको ये शौक अभी हाल-फिलहाल ही लगा है तो ध्यान रखें कि इसके भी कुछ फंडे हैं, जिनको अपनाए बगैर आप इसका सही फायदा नहीं ले पाएंगे। यहां हम आपको ऐसे ही सात फंडे बता रहे हैं जिनको आजमाकर आप ज्यादा बेहतर रिजल्ट पा सकते हैं। ये फंडे रेगुरल जिम जाने और टाइम से वहां की फीस देने से किसी भी मायने में कम नहीं हैं।

सही ड्रेस चुनें
अगर आपके पास ट्रैक सूट नहीं है और जिम के दौरान आप उपयुक्त जूतों का प्रयोग नहीं कर रहे हैं, तो आपके जिम जाने का कोई लाभ नहीं है। कई युवा तो लोगों पर इंप्रेशन जमाने के लिए लीक से हटकर ड्रेस पहनते हैं जो कतई उचित नहीं है। वीएलसीसी की स्वास्थ्य विशेषज्ञ अंजू घई का कहना है कि ऐसी ड्रेस जो आसपास के लोगों का ध्यान भंग करे, उससे बचना चाहिए।  

पसीना आना अच्छा, पर बहाने से बचें
जिम में पसीना बहाना अच्छी बात है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप अपने पसीने का निशान हर जगह छोड़ते चले जाएं। फिटनेस सॉल्यूशन की फिटनेस विशेषज्ञ किरन साहनी का मशविरा है कि इस स्थिति से बचने के लिए हमेशा अपने साथ तौलिया रखें। इसके अलावा डियोड्रेंट का प्रयोग करना ना भूलें।

उपकरण बदलते रहें
जिम करते समय एक ही उपकरण से चिपके ना रहें। कई लोग लम्बे समय तक एक ही मशीन पर एक्सरसाइज करते रहते हैं, जो जिम के माहौल को तनावपूर्ण बनाता है। इससे जिम में आने वाले दूसरे मेंबर को परेशानी होती है। रोजाना जिम जाने वाली चरनप्रीत कथूरिया का कहती हैं, ‘ये जिम में मेरे साथ भी कई बार हुआ है और यह सर्किट करते समय बहुत चिड़चिड़ाहट पैदा करता है।’

लाकर रूम मैनर
कुछ लोगों की आदत होती है कि वे लाकर रूम के आसपास कम से कम कपड़ों में रहना पसंद करते हैं, लेकिन उन्हें यह याद रखना चाहिए कि यह उनका बेड रूम नहीं है और कोई आपको इस तरीके से वहां नहीं देखना चाहता। ग्रूमिंग एक्सपर्ट रीता गंगवानी का कहना है कि जिम के वाशरूम को अपने व्यक्तिगत बाथरूम की तरह ना इस्तेमाल करें। जिम में वाशरूम को यूज करने के बाद कई लोग वहां पर यूज किया शैंपू का पाउच, साबुन और टूटे हुए बालों को छोड़ देते हैं। जिससे उनके बाद आने वाले लोगों को असुविधा होती है।

उपकरणों का करें सही इस्तेमाल
जिम में इधर-उधर फैले डंबल और रॉड्स वगैरह से चोट लग सकती है। कथूरिया कहती हैं ‘लोग उपकरणों का प्रयोग करने के बाद उनको उचित स्थान पर रखना भूल जाते हैं या वापस रखने में अपनी बेइज्जती महसूस करते हैं। लेकिन उपयुक्त स्थान पर रख देने से एक्सीडेंट की संभावना कम हो जाती है, साथ ही दूसरे मेंबर को इसे पाने में सहूलियत भी होती है।’

गॉसिप ना करें
जिम एक्सरसाइज करने की जगह है, ना कि सोशल मुद्दों पर बहस करने की। साहनी कहती हैं ‘जिम के दौरान फोन को हमेशा स्विच ऑफ रखें। मशीन के अगल-बगल खड़े होकर बातचीत न करें। आपके ऐसा करने से वहां मौजूद बाकी लोगों को असुविधा होती है।’ वह कहती हैं कि जिम इंस्ट्रुक्टर स्कूल टीचर नहीं हो सकता जो कि नियमों का पालन करने के लिए लोगों पर दबाव डाले।

अनुशासन में रहें
एक्सरसाइज के वक्त अगर कोई कुछ कर रहा हो तो उसे घूरें नहीं। नियमित तौर पर जिम जाने वाली सोनाली चौधरी कहती हैं ‘कुछ भी हासिल करने के लिए काफी प्रयास की जरूरत होती है लेकिन दूसरों के अनायास देखने से यह बहुत ही मुश्किल हो जाता है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिम जाने के फंडे