DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'भारती' अंटार्कटिक में झांकने की भारतीय खिड़की

भारत ने अंटार्कटिक के लार्सिमेन हिल्स इलाके में अपने तीसरे रिसर्च स्टेशन भारती की शुरुआत की है जिसे इस महाद्वीप के भूगर्भीय इतिहास में झांकने वाली चंद खिड़कियों में से एक माना जा रहा है।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव शैलेश नायक ने बताया कि निर्माण का काम पूरा चुका है। हम इसे परीक्षण आधार पर संचालित कर रहे हैं । ठंड में काम करने वाली टीम वहां कई उपकरणों और प्रणालियों पर परीक्षण कर रही है।

भारती की औपचारिक शुरुआत नवंबर में होने की संभावना है। दरअसल, बर्फ की चादर ओढ़े अंटार्कटिक महाद्वीप में नवंबर के वक्त गर्मी का मौसम होने के कारण ऐसी संभावना है। लार्सिमेन हिल्स में 18 मार्च को एक सक्षिप्त उद्घाटन समारोह के दौरान 15 सदस्यीय टीम के अगुवा राजेश अस्थाना ने बताया यह रिसर्च स्टेशन भारतीय वैज्ञानिकों में अंटार्कटिक की बेहतर समझ के लिए इसके गहरे और वृहद इलाकों के बारे में जानने की बढ़ती चाहत को पूरा करने में मददगार साबित होगा।

भारती को अंटार्कटिक के पूर्वी हिस्से में स्थित लार्सेमन हिल्स इलाके के स्टोरनेस और ब्रोकनेस प्रायद्वीपों के बीच की जमीन पर स्थापित किया गया है। यह जगह समुद्र स्तर से 90 मीटर की ऊंचाई पर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'भारती' अंटार्कटिक में झांकने की भारतीय खिड़की