DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगे होंगे एसी और इस्पात उत्पाद

एयर कंडीशनर (एसी) बनाने वाली कंपनियां बढ़े हुए उत्पाद शुल्क का बोझ ग्राहकों पर डालने के लिए अगले महीने एसी के दाम बढ़ाने पर विचार कर रही हैं।

इसी तरह, आम बजट में उत्पाद शुल्क 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत किए जाने को लेकर चिंतित इस्पात उद्योग का मानना है कि इस वृद्धि का आंशिक हिस्सा ग्राहकों पर डाले जाने की संभावना है जिससे इस्पात उत्पादों की मांग घटेगी।

वहीं दूसरी ओर, बजट में बिजली की बचत वाले उत्पादों पर किसी तरह की शुल्क रियायत नहीं दिए जाने से निराश टिकाऊ उपभोक्ता सामान बनाने वाली कंपनियों का कहना है, हमेशा से ऊर्जा कार्यकुशलता को प्रोत्साहन पर जोर देने वाले वित्त मंत्री ने पांच सितारा एसी के लिए शुल्क की दरें क्यों नहीं घटाईं। सरकार सभी एप्लायंसेज पर समान दर से कर लगा रही है।

पैनासोनिक इंडिया के निदेशक (बिक्री व विपणन) मनीष शर्मा ने बताया कि निश्चित तौर पर अप्रैल से कीमतें बढ़ेंगी। हम पता लगा रहे हैं कि कितना बोझ ग्राहकों पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस साल गर्मी देर से आ रही है जिससे बिक्री प्रभावित हुई है। वहीं सरकार ने शुल्क बढ़ा दिया है। कुल मिलाकर एसी बाजार अगले वित्त वर्ष में 20 प्रतिशत की वृद्धि दर से बढ़ेगा।

उल्लेखनीय है कि कच्चे माल की लागत बढ़ने से एसी बनाने वाली ज्यादातर कंपनियों ने जनवरी में कीमतें बढ़ाई थी। उद्योग ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने की समय सीमा तय नहीं किए जाने पर भी निराशा जाहिर की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महंगे होंगे एसी और इस्पात उत्पाद