DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक अदालत में 26/11 की सुनवाई छह मार्च तक स्थगित

पाकिस्तान की एक अदालत ने मुंबई हमले के मामले में सात संदिग्धों के खिलाफ सुनवाई को छह मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है। बचाव पक्ष के वकील ने न्यायाधीश से भारत जाकर वहां के अधिकारियों का साक्षात्कार करने वाले न्यायिक आयोग के लिए एक समन्वयक नियुक्त करने की मांग की थी, जिसके बाद सुनवाई स्थगित कर दी गई।

बचाव पक्ष के वकीलों ने आतंकवाद निरोधी अदालत के न्यायाधीश शाहिद रफीक को एक अर्जी देकर भारत में आयोग के काम को सुगम बनाने के लिए एक समन्वयक नियुक्त करने की मांग की। न्यायिक आयोग के 12 से 22 मार्च के बीच मुंबई दौरे पर जाने की संभावना है।

बचाव पक्ष के वकीलों ने अदालत को सूचित किया कि आयोग के सदस्यों को उनके दौरे के बारे में मार्ग और अन्य चीजों की जानकारी मुहैया नहीं करायी गयी है, जैसे वह मुंबई में कहां ठहरेंगे और किससे मिलेंगे आदि।

उन्होंने कहा कि अदालत द्वारा अभियोजन पक्ष को निर्देश दिए जाने के बावजूद उन्हें अभी तक वर्ष 2008 मुंबई हमले की जांच करने वाले मुख्य जांच अधिकारी के रिपोर्ट की प्रति नहीं मुहैया करायी गयी है।

सूत्रों ने बताया कि मुख्य अभियोजक चौधरी जुल्फिकार अली ने न्यायाधीश को जानकारी दी कि एक बार भारत सरकार द्वारा आयोग के दौरे की सभी तैयारियां पूरी करके पाकिस्तान को सूचित किए जाने के बाद आयोग के सदस्यों के यात्रा के बारे में चीजों को अंतिम रूप दिया जाएगा।

अली ने कहा कि भारत सरकार से भारतीय जांचकर्ता की रिपोर्ट मांगी गई है लेकिन वह अभी तक मिली नहीं है। न्यायाधीश ने अभियोजक को निर्देश दिया है कि वह छह मार्च तक बचाव पक्ष के वकीलों द्वारा दायर आवेदन का जवाब दें।

लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जाकिउर रहमान लखवी के वकील ख्वाजा हैरिस अहमद ने बताया कि आयोग के भारत दौरे के लिए समन्वयक की नियुक्ति की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर उन्होंने संघीय सरकार को भी लिखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक अदालत में 26/11 की सुनवाई छह मार्च तक स्थगित