DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानिए कौन से ड्रिंक्स हैं बढ़ते वजन की वजह

जानिए कौन से ड्रिंक्स हैं बढ़ते वजन की वजह

सेहतमंद जिंदगी के लिए वजन का संतुलित होना बहुत जरूरी  है। वजन में अचानक या अप्रत्याशित परिवर्तन किसी स्वास्थ्य समस्या की निशानी हो सकती है। अगर आपका वजन ज्यादा है तो उसे नियंत्रित करने के लिए आपको एक योजना बनानी होगी। इसमें कम वसा व कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ, एक साथ भर पेट न खाकर छोटी-छोटी खुराक लेना, मीठे पेय पदार्थों के बदले पानी ज्यादा पीना, शारीरिक रूप से ज्यादा परिश्रम करना जैसी बातों को शामिल करना होगा। अगर आप वजन कम करने के अभियान में जुटी हुई हैं तो इन बातों के अलावा एक और बहुत अहम बात को ध्यान में रखना होगा। आपको वजन कम करने के लिए अपने फेवरेट पेय पदार्थों से भी दूरी बनानी होगी। कौन-कौन से हैं ये पेय पदार्थ, आइए जानें:

डाइट सॉफ्ट ड्रिंक का चक्कर

जब आप अपनी कैलोरी बर्न करने में जुटी हुई हों, तो डाइट सॉफ्ट ड्रिंक आपको एक स्वास्थ्यप्रद और बेहतर विकल्प लग सकते हैं, लेकिन डाइट सॉफ्ट ड्रिंक आपको फायदा पहुंचाने की जगह नुकसान पहुंचा सकते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार, कैलोरी-मुक्त ड्रिंक  किसी व्यक्ति की भूख और खाने की इच्छा को बढ़ा सकते हैं। मोटापे से जुडे़ एक अंतरराष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित निष्कर्षों के अनुसार डाइट पेय पदार्थों का विकल्प अपनाने वाले लोगों को मीठे पेय पदार्थों से परहेज कर अपना वजन कम करना चाहिए।

कॉफी का असर

क्या आपको लगता है कि सुबह एक कप कॉफी पिए बगैर आप सक्रिय नहीं हो सकतीं? सुबह आप खुद को एक कप कॉफी पीने से नहीं रोक पातीं। लेकिन क्या आपको पता है कि स्किम मिल्क से तैयार कॉफी के इस कप में 220 कैलोरी होती है। हैरान हो गईं न! इसलिए जहां तक कॉफी का सवाल है, थोड़ा ही बेहतर है। अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रही हैं तो ब्लैक कॉफी पिएं, जिसमें दूध की मात्रा बिल्कुल थोड़ी हो और चीनी बिल्कुल न हो।

स्किम्ड मिल्क नहीं फुल क्रीम पीजिए

महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी एक पत्रिका के अनुसार, स्किम मिल्क (बिना मलाई वाली दूध) के सेवन से आने वाले समय में वजन बढ़ने की आशंका रहती है। दूध के वैकल्पिक उत्पादों से दूर रहना ही बेहतर है। उनमें अलग से चीनी मिली हो सकती है। जहां तक डेयरी उत्पाद लेने की बात है तो कैल्शियम से भरपूर फुल क्रीम दूध लीजिए या फिर नट मिल्क पीजिए, जिसमें कम कैलोरी और कम चीनी होती है।

कैलोरी से भरपूर है आइस-टी

फ्रूट जूस की तरह किसी स्टोर से खरीदी गई आइस-टी शुगर युक्त होती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वास्तव में आइस-टी की एक बोतल में 116 कैलोरी हो सकती है। इससे बेहतर है कि आप घर पर ही आइस-टी बनाएं और उसमें चीनी न डालें।

स्मूदी में भी होती है ढेर सारी कैलोरी

अगर आप घर पर स्मूदी (एक गाढ़ा ड्रिंक, जो फल और दही या दूध मिला कर तैयार किया जाता है) बना रही हैं तो सतर्क रहें। विशेषज्ञों के अनुसार, खूब ज्यादा फलों वाली स्मूदी में काफी मात्रा में कैलोरी होती है, इसलिए एक बार में ज्यादा ना पिएं। स्मूदी में संतुलित मात्रा में मौसमी फलों का इस्तेमाल करें, चीनी का इस्तेमाल कम से कम करें।

जूस से रहें दूर

जूस, खासकर चीनीयुक्त पैक्ड जूस से परहेज करना चाहिए। महिलाओं के स्वास्थ्य से संबंधित एक हेल्थ मैगजीन के मुताबिक, एक गिलास अंगूर के जूस में नौ चम्मच चीनी होती है, वहीं एक गिलास संतरे के जूस में छह चम्मच और एक गिलास सेब के रस में सात चम्मच चीनी होती है। जूस पीने से रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है और फिर जब शुगर की मात्रा नीचे आती है तो चीनी और कार्बोहाइड्रेट्स लेने की तीव्र इच्छा पैदा होती है। फ्रूट जूस में फाइबर भी कम मात्रा में होते हैं, इसलिए फलों का जूस पीने की बजाय फल खाने को तरजीह दें।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:drinks may cause weight gain