DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2 जून को करने वाले थे भूख हड़ताल, जेल से कर दिए शिफ्ट

शासन को जानकारी मिली थी कि आरोपी जेल में गोलबंदी कर दो जून को जवाहरबाग की बरसी पर भूख हड़ताल कर सकते हैं।

शासन के निर्देश पर जिला कारागार में निरुद्ध रामायण प्रसाद पुत्र रामलखन को शासन के निर्देश पर लखनऊ की जिला जेल भेजा गया। हरनाथ पुत्र गंगासागर को केंद्रीय कारागार नैनी इलाहबाद शिफ्ट किया गया। राकेश बाबू पुत्र हरीराम को जिला कारागार कानपुर व अनूप पुत्र नरेश को जिला कारागार सुल्तानपुर भेज दिया गया। शासन को इस बात की जानकारी मिली थी उक्त सभी आरोपी रामवृक्ष के करीबी हैं।

ये लोग जेल में फिर से आंदोलन की राह पकड़ने को गोलबंदी कर रहे हैं। साथ ही इस बात की जानकारी भी मिली थी कि जिला कारागार में निरूद्ध जवाहरबाग कांड के आरोपियों को एक जुट कर रहे हैं। शासन विरोधी गतिविधियों को जेल से अंजाम दे रहे हैं। शासन को इस बात की जानकारी भी मिली कि आरोपी आगामी दो जून को जवाहर बाग की बरसी पर भूख हड़ताल भी कर सकते हैं।

राजनीति और कायर अधिकारियों ने ली मेरे भाई की जान

मथुरा। शहीद एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी के भाई प्रफुल्ल द्विवेदी ने सिंगापुर से ‘हिंदुस्तान से फोन पर हुई वार्ता में कहा कि यह बहुत दुख की बात है कि भाई मुकुल की मौत के जिम्मेदार लोग अभी तक आराम की जिंदगी जी रहे हैं। जवाहरबाग कांड एक राजनैतिक हथकंडा था, इस बात का सबूत यही है कि सरकार ने शहीद की बहादुरी को पहचान भी नहीं दी। उन्होंने सवाल किया कि क्या शहीद मुकुल राष्ट्रपति पदक के हकदार नहीं हैं। क्या उनकी शहादत से पहचाने जाने वाले जवाहरबाग का नाम मुकुल के नाम पर नहीं हो सकता था। शहीद के भाई ने कहा कि राजनीति और कायर अधिकारियों ने उसके भाई की जान ली है। मुकुल एक बहादुर और ईमानदार अधिकारी थे और उनकी इसी बात का फायदा उन्हें बलि का बकरा बनाकर उठाया गया। शहीद के भाई ने सीबीआई जांच पर भी निराशा जाहिर करते हुए कहा कि सीबीआई अपनी जांच ठीक से नहीं कर रही है। हाईकोर्ट ने दो महीने का समय दिया था और सुनवाई में हाईकोर्ट को सीबीआई को फटकार लगानी पड़ी। उन्होंने कहा कि हमें उप्र की नयी सरकार से न्याय की उम्मीद है। मुख्यमंत्री से हमारी अपील है कि मुकुल को राष्ट्रपति पुरस्कार मिले और जवाहरबाग का नामकरण मुकुल के नाम पर हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:On June 2, people were hunger strike, shifted from jail