DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाहर की दवाएं लिखने पर डीएम हुए खफा

जिला अस्पताल के निरीक्षण में चिकित्सकों द्वारा बाहर की दवाएं लिखने व अल्ट्रासाउंड सेवा चालू न होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई। सुधार को अधीनस्थ अफसरों को निर्देशित किया गया। वहीं अस्पताल में भर्ती मरीजों से सेवाओं के बारे में भी पूछताछ की।

गुरुवार को डीएम अरविंद मलप्पा बंगारी सीएमओ डॉ.आरके नैय्यर के साथ महर्षि दयानंद सरस्वती जिला अस्पताल पहुंचे। इमरजेंसी देखने के बाद वे वार्ड में पहुंचे व भर्ती मरीजों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने परिजनों से पूछा कि यहां से कोई बाजार की दवा तो नहीं लिख रहा है। एक मरीज ने पर्चा दिखाया व बताया कि चिकित्सक ने बाजार की दवा लिखी है। इस पर वे नाराज हुए। इसके बाद उन्होंने दवा स्टोर का निरीक्षण कर दवाओं को चेक किया। काफी देर दवा को लेकर पूछताछ की जाती। कुत्ते काटे के इंजेक्शन न होने की जानकारी दी गई। यहां मरीजों ने बताया कि एक्स-रे बाहर से लिखे जाते हैं और अल्ट्रासाउंड भी नहीं होते। जिलाधिकारी ने एक्स-रे विभाग का निरीक्षण कर पूछताछ की।

रेडियोलॉजिस्ट चिकित्सक ने उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराया। इस पर डीएम ने स्टाफ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। महिला चिकित्सक के बारे में बताया गया कि वह अवकाश पर हैं तो उन्होंने मोबाइल पर चिकित्सक से बातचीत की। डीएम ने निर्देशित किया कि अल्ट्रासाउंड सेवा चालू हो जानी चाहिए। ब्लड बैंक के बाद डीएम ने ओपीडी का भी निरीक्षण किया। सीएमओ एवं सीएमएस को निर्देशित किया कि वह सुधार हेतु आवश्यक कदम उठाएं। डीएम ने कहा कि सुनिश्चित करें कि चिकित्सक बाजार की दवाएं न लिखें। अन्यथा की स्थिति में कार्रवाई होगी। डॉ.मुकुंद बसल ने अस्पताल में चिकित्सकों एवं स्टाफ की कमी के बारे में अवगत कराया।

डीएम ने चेक किए दो मेडिकल स्टोर, मची खलबली

मथुरा। जिला अस्पताल में चिकित्सक द्वारा बाजार की दवाएं लिखे जाने को डीएम अरविंद मलप्पा बंगारी ने गंभीरता से लिया। उन्होंने खुद अस्पताल के बाहर स्थित दवा की दो दुकानों का निरीक्षण किया। दोनों मेडिकल स्टोर पर दवाओं को चेक किया। एक दुकान पर मई 2017 की एक्सपायर दवा मिलीं। संचालक ने अवगत कराया कि आज ही यह दवाएं हटाई जातीं। चेकिंग से दवा विक्रेताओं में खलबली मची रही।

बलदेव रोड पर गंदगी देख रोकी गाड़ी

मथुरा। डीएम अरविंद मलप्पा बंगारी गुरुवार को लोहवन गांव में आयोजित एक कार्यक्रम में जा रहे थे। इस दौरान गांव के पहले रोड पर लोहवन बगीची के पास समोसे-कचौड़ी की दुकान के पास गाड़ी रोक दी। वहां दुकान के आगे पत्तल, दोने आदि व आसपास गंदगी देख नाराजगी जताई। उन्होंने दुकानदार से डस्टविन रखने को कहा। साथ ही आसपास की गंदगी खुद हटाने की हिदायत दी। कहा कि यदि गंदगी मिली तो सीधे थाने जाओगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DM becomes angry to see writing medicines from outside