DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डकवर्थ-लुईस की जगह वीजेडी अपना सकती है आईसीसी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) वर्षा प्रभावित मैचों में विजेता का निर्धारण करने के लिए लागू होने वाले डकवर्थ लुईस नियम के स्थान पर एक भारतीय इंजीनियर द्वारा तैयार वीजेडी नियम को अपनाने पर गंभीरता से विचार कर रही है।
 
आईआईटी चेन्नई के छात्र रहे वी जयदेवन ने पिछले 12 वषरें से चल रहे डकवर्थ लुईस नियम में कई खामियों को उजागर करते हुए एक वैकल्पिक नियम बनाया है जिसे पिछले महीने हांगकांग में हुई आईसीसी की बैठक में पेश किया गया था। आईसीसी की क्रिकेट समिति बुधवार से लॉर्ड्स में शुरु हो रही अपनी दो दिन की बैठक में इस पर विचार करेगी।
 
जयदेवन के नियम को भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व विकेटकीपर और आईसीसी के क्रिकेट मैनेजर डेव रिचर्डसन का पूरा समर्थन है। केरल के जयदेवन ने कहा कि आईसीसी डकवर्थ लुईस नियम की समीक्षा कर रही है और ऐसे में वह मेरे नियम को अपना सकती है। हालांकि मैं व्यक्तिगत रूप से आईसीसी की क्रिकेट समिति की बैठक में नहीं रहूंगा लेकिन मैंने डकवर्थ लुईस की खामियों और अपने नियम के बारे में समिति के सदस्यों को अपनी राय भेज दी है।
 
उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सदस्यों को मेरी रिपोर्ट पढ़ने का समय मिला होगा। अगर वे इसे पढ़ लें तो आधा काम हो जाएगा। डकवर्थ लुईस नियम खामियों का पुलिंदा है लेकिन फिर भी क्रिकेट जगत में यह धारणा है कि यह नियम सटीक है। अधिकांश क्रिकेटर और अधिकारी बदलाव चाहते हैं और ऐसे में वीजेडी को कम से कम दो वर्ष के लिए अपनाया जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डकवर्थ-लुईस की जगह वीजेडी अपना सकती है आईसीसी