DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालेगांव धमाका: दयानंद पांडे मास्टरमाइंड

माले गांव धमाकों के आरोपी लफ्टिनंट कर्नल श्रीकांत पुराहित न नारको टस्ट क दौरान दयानंद पांड को धमाकों का मास्टरमाइंड बताया है। एक निजी टीवी चैनल को मिली इस नारको टस्ट रिपोर्ट के अनुसार पुरोहित न कहा कि दयानंद पांड न ही मालगांव धमाकों की साजिश रची थी। टस्ट क दौरान पुरोहित न कबूला कि पांड न ही उस साध्वी प्रज्ञा ठाकुर स मिलवाया था। उसन यह भी बताया कि नांदड़ ब्लास्ट और 11 अक्टूबर 2007 को हुए अजमर ब्लास्ट मं भी पांड ही मास्टरमाइंड था। पुराहित क मुताबिक उसन 500 लागां को आतंकी ट्रनिंग दी थी।ड्ढr ड्ढr इस बीच दयानंद पांडे को शुक्रवार को नासिक की अदालत में पेश किया गया। अदालत में एटीएस ने खुलासा किया कि दयानंद पांडे ने ही पुरोहित को धमाके के लिए विस्फोटक का इंतजाम करने को कहा था। मुख्य दंडाधिकारी ने पांडे को 26तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। अदालत ने एटीएस को पांडे की नारको, ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफी टेस्ट की भी इजाजत दे दी। सरकारी वकील ने बताया कि मालेगांव धमाके के सिलसिले में पांडे का नाम साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित की जांच के दौरान सामने आया है। पांडे ने प्रज्ञा व पुरोहित के साथ 26 जनवरी को फरीदाबाद में और 12 अप्रैल को भोपाल में बैठक की थी। इसी बैठक में पांडे ने पुरोहित को विस्फोटक का इंतजाम करने के लिए कहा था। अदालत में काफी नाटकीय माहौल रहा। पांडे ने एटीएस पर आरोप लगाए कि उसे एटीएस से जान का खतरा है। पांडे ने कहा कि एटीएस अधिकारी उसकी पिटाई कर रहे हैं। मुख्य दंडाधिकारी ने जब पांडे का नाम पूछा तब उसने अदालत में खुलासा किया कि वह दयानंद पांडे नहीं है। उसने अपना नाम सुधाकर द्विवेदी और अमृतानंद बताया। इस बीच समझौता एक्सप्रेस में हुए बम धमाके के मामले में साध्वी और पुरोहित से पूछताछ के लिए हरियाणा पुलिस का एक दल शुक्रवार को मुंबई पहुंचा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मालेगांव धमाका: दयानंद पांडे मास्टरमाइंड