DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोविंद मिश्र समेत 21 को साहित्य अकादमी

समकालीन कथा लेखन में अपनी विशिष्ट पहचान बनाने वाले प्रसिद्ध लेखक गोविंद मिश्र और उर्दू के शायन जयंत परमार समेत 21 लेखकों को वर्ष 2008 के साहित्य अकादमी पुरस्कार दिए जाने की मंगलवार को घोषणा की गई। पुरस्कार अगले वर्ष 17 फरवरी कों यहां एक समारोह में दिए जाएंगें। पुरस्कार में प्रत्एक को 50-50 हजार रुपये तथा एक प्रशस्ति पत्र एवं ताम्रफलक शामिल है। अकादमी के अध्यक्ष सुनील गंगोपाध्याय की अध्यक्षता में अकादमी के कार्यकारी मंडल ने यह घोषणा की। एक अगस्त 1ो बुंदेलखण्ड में जन्मे मिश्र को उनके उपन्यास ‘कोहरे में कैद रंग’ के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। इस बार अंग्रेजी के लिए कोई पुस्तक पुरस्कार योग्य नहीं मानी गई, जबकि मैथिली और तेलुगु के पुरस्कार बाद में घोषित किए जाएंगें। ये पुरस्कार एक जनवरी 2004 से 31 दिसम्बर 2006 के दौरान प्रकाशित पुस्तकों के लिए है। अकादमी के हिन्दी संयोजक विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने बताया कि हिन्दी के लिए 13 लेखक पुरस्कारों की दौड़ में थे। इनमें महीप सिंह, मैनेजर पाण्डेय, प्रयाग शुक्ल, असगर वजाहत, राजी सेठ आदि शामिल है। प्रभाकर श्रोत्रिय, सूर्यप्रकाश दीक्षित और प्रो. लालचंद गुप्त की निर्णायक समिति ने गोविंद मिश्र की पुस्तक का चयन किया। मिश्र केन्द्रीय राजस्व बोर्ड के अध्यक्ष पद से सेवानिवृत होकर भोपाल में सृजनरत है। उन्हें 1ा व्यास सम्मान तथा 2000 में सुब्रमण्यम भारती पुरस्कार भी मिल चुका है। उनके 8 उपन्यास, दस कहानी संग्रह, दो यात्रा संस्मरण तथा चार निबंध संग्रह एवं एक कविता संग्रह प्रकाशित हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गोविंद मिश्र समेत 21 को साहित्य अकादमी