ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR'कुंवारी बेगम' को बेपर्दा करेगा यूट्यूब? अब गाजियाबाद पुलिस कर रही यह तैयारी

'कुंवारी बेगम' को बेपर्दा करेगा यूट्यूब? अब गाजियाबाद पुलिस कर रही यह तैयारी

नवजात बच्चोंं के यौन शोषण के लिए उकसाने की आरोपी यूट्यूबर शिखा मैत्रेय उर्फ 'कुंवारी बेगम' पर कानून का शिकंजा और कसता जा रहा है। गाजियाबाद पुलिस अब यूट्यूब से 'कुंवारी बेगम' चैनल की जानकारी मांगेगी।

'कुंवारी बेगम' को बेपर्दा करेगा यूट्यूब? अब गाजियाबाद पुलिस कर रही यह तैयारी
kunwari begum symbolic image
Praveen Sharmaगाजियाबाद। हिन्दुस्तानSun, 16 Jun 2024 08:38 AM
ऐप पर पढ़ें

नवजात बच्चोंं के यौन शोषण के लिए उकसाने की आरोपी यूट्यूबर शिखा मैत्रेय उर्फ 'कुंवारी बेगम' पर कानून का शिकंजा और कसता जा रहा है। गाजियाबाद पुलिस अब यूट्यूब से 'कुंवारी बेगम' चैनल की जानकारी मांगेगी। साथ ही फॉरेंसिक टीम भी उसके सीपीयू से डेटा रिकवर करने के प्रयास में जुटी है। एक वीडियो वायरल होने के बाद डासना के इंद्रगढ़ी में रहने वाली शिखा मैत्रेय को थाना कौशांबी पुलिस ने 13 जून को गिरफ्तार किया था।

शिखा ने गिरफ्तारी से पहले ही अपने सीपीयू को डेटा डिलीट कर दिया था। साथ ही सभी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म से भी अपने अकॉउंट हटा दिए थे। शिखा को उसी दिन जमानत मिल गई थी। वहीं पुलिस ने उसके खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने के लिए पर्याप्त साक्ष्य जुटाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। जांच अधिकारी इंस्पेक्टर कुलदीप कुमार को अधिकारियों ने इस बाबत यूट्यूब को पत्र लिखने का निर्देश दिया था।

'कुंवारी बेगम' ने घर में ही बना रखा था 'गंदी बात' का चैट रूम

23 वर्षीय शिखा एक एक्सपोर्ट कंपनी में कार्यरत थी और उसने 'कुंवारी बेगम' नाम से यूट्यूब चैनल बना रखा था। वह खुद को गेमर बताती थी और चैनल पर लाइव स्ट्रीमिंग में लोगों को यौन कृत्यों के लिए उकसाती थी। आरोप है कि एक स्ट्रीमिंग के दौरान उसने नवजात बच्चों के यौन उत्पीड़न का तरीका बताकर लोगों को उकसाया था। यह वीडियो तुरंत ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। पुलिस का कहना है कि इस मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

सीपीयू से डेटा रिकवर किया जाएगा

राष्ट्रीय बाल अधिकारी संरक्षण आयोग और इसके अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने संज्ञान लेकर जांच कराई तो मामला गाजियाबाद का निकला, जिसके बाद गाजियाबाद पुलिस ने थाना कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज कर शिखा को गिरफ्तार कर लिया था। उसके चैनल पर यौन कृत्यों को बढ़ावा देने वाले तमाम वीडियो थे, जिन्हें अब पुलिस ढूंढने का प्रयास कर रही है। डीसीपी ट्रांस हिंडन निमिष पाटील का कहना है कि सीपीयू से डेटा रिकवर किया जाएगा। पुष्टि के लिए यूट्यूब से भी शिखा के उस चैनल की पूरी डिटेल मांगी जाएगी। मामले को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने भी प्रतिक्रियाएं व्यक्त की हैं।