ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRशरत रेड्डी से चंदा लिया, इलेक्टोरल बॉन्ड बड़ा घोटाला है; AAP नेता का PM पर निशाना

शरत रेड्डी से चंदा लिया, इलेक्टोरल बॉन्ड बड़ा घोटाला है; AAP नेता का PM पर निशाना

PM मोदी की बातों पर दिल्ली के मंत्री और AAP नेता गोपाल राय ने कहा, 'एक तरफ आप कहते हैं कि आप भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं। दूसरी तरफ आप शरत चंद्र रेड्डी से 60 करोड़ रुपए लेते हैं।'

शरत रेड्डी से चंदा लिया, इलेक्टोरल बॉन्ड बड़ा घोटाला है; AAP नेता का PM पर निशाना
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 15 Apr 2024 09:04 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यूज एजेंसी ANI को दिए गए साक्षात्कार में कई अहम बातें कही हैं। इस इंटरव्यू के बाद कई नेताओं ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है। अब आम आदमी पार्टी की तरफ से ही पीएम मोदी के इंटरव्यू को लेकर बयान सामने आया है। दिल्ली के मंत्री और AAP नेता गोपाल राय ने कहा, 'एक तरफ आप कहते हैं कि आप भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं। दूसरी तरफ आप शरत चंद्र रेड्डी से 60 करोड़ रुपए लेते हैं जिसे इस कथित शराब घोटाले में गिरफ्तार किया गया था। इसका हिसाब-किताब कौन करेगा, इसपर कार्रवाई कौन करेगा?'

गोपाल राय ने आगे कहा, 'यह सामने आया है कि उन कंपनियों से इलेक्टोरल बॉन्ड लिए गए जो घाटे में चल रहे थे। उन्होंने हजारों रुपए दिए। अगर यह कालाधन नहीं तो और क्या है? मुझे लगता है कि यह एक बहुत बड़ा घोटाला है, जैसा दूसरे लोग कह रहे हैं। मुझे लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसपर अपना स्टैंड साफ करना चाहिए।'

इससे पहले पीएम मोदी ने चुनावी बॉन्ड को लेकर इंटरव्यू में कहा कि चुनावी बॉन्ड के कारण आपको पैसों का पता चल रहा है। आपको यह पता चल पा रहा है कि किस कंपनी ने दिया, कैसे दिया और कहां दिया? चुनावी बॉन्ड खत्म किए जाने पर पीएम मोदी ने कहा कि जब विपक्ष के नेता ईमानदारी से सोचेंगे तो उन्हें पछतावा होगा।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी अपनी बात रखी है। राहुल गांधी ने कहा कि इलेक्टोरल बॉन्ड एक अहम चीज है। जब आप नाम और तारीख देखेंगे तो आपको पत चल जाएगा कि दानदातओं ने बॉन्ड दिया था तब उन्हें कॉन्ट्रैक्ट दिए गए या फिर उनके खिलाफ सीबीआई जांच वापस ले ली गई थी। यह दुनिया की सबसे बड़ी जबरन वसूली योजना है।

आपको बता दें कि शरत चंद्र रेेड्डी को दिल्ली के कथित आबकारी नीति घोटाले में अहम आरोपी बताया जाता है। दावा किया गया है कि शरत चंद्र रेड्डी अब सरकारी गवाह बन चुके हैं। आम आदमी पार्टी का आरोप है कि शरत रेड्डी पर जबरन दबाव बना कर उनसे आप नेताओं के खिलाफ बयान लिए गए और फिर पार्टी नेताओं पर जांच एजेंसियों ने कार्रवाई की है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें