ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली का नया 'प्रगति मैदान', जिसे देख दुनिया हैरान; हर PHOTO पर कहेंगे वाह-वाह

दिल्ली का नया 'प्रगति मैदान', जिसे देख दुनिया हैरान; हर PHOTO पर कहेंगे वाह-वाह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश को यशोभूमि के तौर पर बड़ी सौगात देने वाले हैं। पीएम एशिया के सबसे बड़ा इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर (आईआईसीसी), यशोभूमि का उद्घाटन करेंगे।

दिल्ली का नया 'प्रगति मैदान', जिसे देख दुनिया हैरान; हर PHOTO पर कहेंगे वाह-वाह
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 16 Sep 2023 11:54 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल 17 सितंबर देश को यशोभूमि के तौर पर देशवासियों को बड़ी सौगात देने वाले हैं। पीएम एशिया के सबसे बड़ा इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर (आईआईसीसी), यशोभूमि का उद्घाटन करेंगे। इसे नया प्रगति मैदान भी कहा जा रहा है। यशोभूमि में भारतीय संस्कृति के साथ आधुनिकता का मेल दिखाई देगा। यहां एक साथ 11000 लोग बैठ सकते हैं। इसे एक्सप्रेस मेट्रो लाइन से भी जोड़ा जाएगा। इसके लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने खास तैयारी की है। 

यशोभूमि स्टेशन पर सात एंट्री और एग्जिट गेट होंगे जिससे यहां आने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी ना हो। इसके अलावा 22 स्वचालित सीढ़ियां लगी हुई हैं। कुछ ऐसे भी हैं जो कन्वेंशन सेंटर को सीधे मेट्रो से कनेक्ट करेंगी। यशोभूमि 8.9 लाख वर्ग मीटर से अधिक के क्षेत्र और 1.8 लाख वर्ग मीटर से अधिक के कुल निर्मित क्षेत्र के साथ दुनिया की सबसे बड़ी एमआईसीई (बैठक, इनसेंटिव, सम्मेलन और प्रदर्शनियां) में से एक बनने वाला है।

73,000 वर्ग मीटर से अधिक क्षेत्र में बने कन्वेंशन सेंटर में 15 कन्वेंशन रूम शामिल हैं, जिनमें मुख्य सभागार, एक बॉलरूम और 13 बैठक कक्ष हैं, जिसमें एक साथ 11,000 लोग बैठ सकते हैं। मुख्य सभागार कन्वेंशन सेंटर का बड़ा हॉल है और यहां लगभग 6,000 मेहमान आराम से बैठ सकते हैं। इसमें एक इनोवेटिव ऑटोमैटिक स्वचालित सीटिंग सिस्टम है जिसमें आप अपनी मर्जी से किसी भी तरह बैठ सकते हैं।

बॉलरूम में अनूठी पंखुड़ियों वाली छत है। यहां 2,500 मेहमानों के बैठने की व्यवस्था है। वहीं इसके ओपन एरिया (खुला क्षेत्र) में लगभग 500 लोग बैठ सकते हैं। आठ मंजिलों में फैले 13 बैठक कक्ष, विभिन्न स्तरों की बैठकों की एक श्रृंखला को समायोजित करने के लिए डिजाइन किए गए हैं। यशोभूमि दुनिया के सबसे बड़े प्रदर्शनी हॉल में से एक है, जो 1.07 लाख वर्ग मीटर में फैला हुआ है। भव्य फोयर स्थान से जुड़े ये हॉल प्रदर्शनियों, व्यापार मेलों और व्यावसायिक कार्यक्रमों की मेजबानी करेंगे। फोयर में कई सपोर्ट एरिया हैं, जैसे मीडिया रूम, वीवीआईपी लाउंज, क्लॉक सुविधाएं, आगंतुक सूचना केंद्र और टिकट काउंटर।

अधिकारियों के अनुसार, यशोभूमि स्थिरता के प्रति प्रतिबद्धता भी प्रदर्शित करती है, जिसमें 100% अपशिष्ट जल के पुन: उपयोग, वर्षा जल संचयन, छत पर सोलर पैनलों के साथ अत्याधुनिक अपशिष्ट जल उपचार प्रणाली शामिल है। परिसर को सीआईआई के इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (आईजीबीसी) से ग्रीन सिटीज प्लेटिनम सर्टिफिकेट मिला है। कन्वेंशन सेंटर में पीतल की जड़ाई के साथ टेराजो फर्श के रूप में भारतीय संस्कृति से प्रेरित सामग्री और वस्तुएं शामिल की गई हैं, जो रंगोली पैटर्न को दर्शाती हैं। इसमें साउंड एब्जॉर्बेंट मेटल सिलेंडर और रोशनी पैटर्न वाली दीवारें भी हैं।

इस कन्वेंशन सेंटर को यशोभूमि नाम दिया गया है, जिसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 सितंबर को उद्घाटन करने वाले हैं। इसका पहला चरण बनकर तैयार है। पूरी तरह तैयार होने में मार्च 2025 तक का समय लगेगा। आईआईसीसी से पांच से 10 किलोमीटर की दूरी में फाइव स्टार होटल हैं। ऐसे में यहां बड़े आयोजन में शामिल होने के लिए आने वाले मेहमानों को ठहरने की कोई परेशानी नहीं होगी।

यशोभूमि में देश की सबसे बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई जाएगी। कन्वेंशन सेंटर के प्रदर्शनी हॉल का प्रयोग प्रदर्शनियों, व्यापार मेलों और व्यावसायिक कार्यक्रमों की मेजबानी के लिए होगा। यहां रोशनदानों के जरिए रोशनी आएगी। नई दिल्ली से यहां पहुंतने में आपको केवल 21 मिनट का टाइम लगेगा। वहीं इसे द्वारका एक्सप्रेसवे और छह लेन की अर्बन एक्सटेंशन रोड से भी जोड़ने का काम चल रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें