Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRदिल्ली में भारी बारिश से यमुना का जलस्तर चेतावनी निशान के पास पहुंचा

दिल्ली में भारी बारिश से यमुना का जलस्तर चेतावनी निशान के पास पहुंचा

नई दिल्ली। एजेंसीPraveen Sharma
Fri, 28 Aug 2020 07:28 PM
दिल्ली में भारी बारिश से यमुना का जलस्तर चेतावनी निशान के पास पहुंचा

राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में शुक्रवार को हुई भारी बारिश के बाद यमुना नदी का जलस्तर बढ़कर 204.41 मीटर तक पहुंच गया जो चेतावनी के निशान 204.50 मीटर के काफी निकट है।

सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि पुराने रेल पुल पर शाम में पांच बजे जलस्तर 204.41 मीटर था, जबकि सुबह नौ बजे जलस्तर 204.30 मीटर था। गुरुवार सुबह 10 बजे यह 203.77 मीटर पर था।

उन्होंने बताया कि हथिनीकुंड बैराज से मंगलवार को और पानी छोड़े जाने की वजह से जलस्तर बढ़ गया। मंगलवार शाम पांच बजे प्रवाह दर 36,557 क्यूसेक थी। पिछले तीन दिनों में यह सर्वाधिक है। अधिकारी ने बताया कि बैराज से पानी राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने में आमतौर पर दो से तीन दिन लगते हैं। इससे ही दिल्ली को पेयजल मिलता है। हथिनीकुंड बैराज से शुक्रवार शाम चार बजे 13,871 क्यूसेक की दर से पानी यमुना में छोड़ा गया।

अधिकारी ने कहा कि पिछले दो दिनों में प्रवाह दर 10,000 क्यूसेक से 25,000 क्यूसेक के बीच रही है, जो बहुत अधिक नहीं है। इसलिए नदी के जलस्तर के नीचे आने की संभावना है। एक क्यूसेक 28.32 लीटर प्रति सेकेंड के बराबर होता है। नदी का जलस्तर सोमवार को 204.38 मीटर था, जो कि खतरे के निशान 205.33 मीटर से नीचे है। अधिकारी के अनुसार यदि जलग्रहण क्षेत्र में बारिश जारी रहती है तो जलस्तर में और वृद्धि हो सकती है।

सामान्य तौर पर हथिनीकुंड बैराज में प्रवाह दर 352 क्यूसेक होती है, लेकिन जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के बाद पानी छोड़ने की मात्रा बढ़ा दी जाती है।

गत वर्ष 18-19 अगस्त को प्रवाह दर 8.28 लाख क्यूसेक तक पहुंच गई थी और यमुना नदी का जलस्तर 206.60 मीटर पर पहुंच गया था, जो खतरे के निशान 205.33 से ऊपर है।

निचले इलाकों में पानी भरने के बाद दिल्ली सरकार ने बचाव और राहत अभियान शुरू किया था। वहीं 1978 में यह नदी अब तक के रिकॉर्ड जलस्तर 207.49 तक पहुंच गई थी। इसके बाद 2013 में जलस्तर 207.32 मीटर दर्ज किया गया। दिल्ली के जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि सरकार बाढ़ जैसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।  

epaper

संबंधित खबरें