ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में हवा के बाद पानी पर भी संकट, यमुना में बढ़ गया 'सफेद जहर'

दिल्ली में हवा के बाद पानी पर भी संकट, यमुना में बढ़ गया 'सफेद जहर'

राजधानी दिल्ली पर इन दिनों प्रदूषण का कहर टूट रहा है। हवा तो पहले से दमघोंटू है और अब यमुना का पानी भी पहले से अधिक 'जहरीला' हो गया है। यमुना में एक बार फिर झाग ही झाग दिख रहा है।

दिल्ली में हवा के बाद पानी पर भी संकट, यमुना में बढ़ गया 'सफेद जहर'
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 14 Nov 2023 03:06 PM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली पर इन दिनों प्रदूषण का कहर टूट रहा है। हवा तो पहले से दमघोंटू है और अब यमुना का पानी भी पहले से अधिक 'जहरीला' हो गया है। खतरनाक रसायनों की अधिकता की वजह से यमुना झाग से पटी नजर आ रही है। यमुना में झाग ऐसे समय पर बढ़ गया है जब छठ पूजा बेहद नजदीक है और रोक के बावजूद बड़ी संख्या में व्रती नदी में पूजा करने पहुंचते हैं।

दिल्ली में हवा की हालत बहुत खराब
दिल्ली में बारिश के बाद मिली राहत एक बार फिर खत्म हो चुकी है। मंगलवार को लगातार दूसरे दिन हवा की गुणवत्ता बेहद खराब रही। सुबह 8 बजे राजधानी मे एक्यूआई 363 यानी बहुत खराब कैटिगरी में रहा। हालांकि, 40 में से 9 केंद्रों से ही आंकड़े मिल पाए। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मोबाइल ऐप 'समीर' के अनुसार, बाकी निगरानी केंद्र पर्याप्त आंकड़ा उपलब्ध कराने में विफल रहे।

स्विट्जरलैंड की कंपनी 'आईक्यूएयर' के अनुसार, सोमवार को दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली सबसे ऊपर रही। इसके बाद पाकिस्तान के लाहौर और कराची थे, जबकि प्रदूषित शहरों में मुंबई पांचवे और कोलकाता छठे स्थान पर रहे। दिल्ली में रविवार को दिवाली के दिन आठ साल में सबसे बेहतर वायु गुणवत्ता दर्ज की गई, तथा 24 घंटे का औसत एक्यूआई शाम चार बजे 218 पर दर्ज किया गया। हालांकि, रविवार देर रात आतिशबाजी से कम तापमान के बीच प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हो गई।

अब यमुना ने बढ़ाई चिंता, जल संकट का भी डर
सफाई के तमाम दावों के विपरीत यमुना की हालत सुधरती नहीं दिख रही है। नदी में अमोनिया और फास्फेट की मात्रा बढ़ जाने से एक बार फिर यमुना में झाग की मोटी परत जम गई है। नदी में इन रासायनों की मात्रा और अधिक बढ़ने पर दिल्लीवासियों को जल संकट का भी सामना करना पड़ सकता है। पिछले साल जुलाई में भी यमुना में अमोनिया की मात्रा अधिक बढ़ जाने की वजह से वजीराबाद, चंद्रावल और ओखला ट्रीटमेंट प्लांट को बंद करना पड़ा था। इससे दिल्ली कैंट, नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, उत्तरी दिल्ली और दक्षिणी दिल्ली के कई इलाकों में जल आपूर्ति प्रभावित हुई थी। 

कहां जा रहा यमुना सफाई का पैसा: भाजपा
हवा में प्रदूषण को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी में चल रही सियासी जंग अब यमुना की वजह से बढ़ती नजर आ रही है। भाजपा सांसद परवेश वर्मा ने न्यूज एजेंसी एएनआई का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'आप सरकार 8 साल से हर बार बजट में यमुना की सफाई के लिए करोड़ों रुपए का प्रावधान करती है मगर यह पैसा कहां जा रहा है यह सिर्फ अरविंद केजरीवाल जानते हैं। छठ पूजा पर पूर्वांचल की माताएं बहनें क्या इस दूषित यमुना मां की गोद में डुबकी लगाएंगी केजरीवाल जी..?' दिल्ली भाजपा के एक्स हैंडल पर लिखा गया,' केजरीवाल के राज में यमुना जी हुई जहरीली! छठ व्रतियों से किस बात का बदला ले रहे हो मुख्यमंत्री जी?' भाजपा ने केजरीवाल का 2015 का एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें वह कहते नजर आ रहे हैं कि 5 साल में यमुना को साफ कर दिया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें