ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRजगनपुर अफजलपुर इंटरचेंज से जुड़ेंगे यमुना सिटी के सेक्टर, ईस्टर्न पेरिफेरल और एक्सप्रेसवे का सफर होगा सुहाना

जगनपुर अफजलपुर इंटरचेंज से जुड़ेंगे यमुना सिटी के सेक्टर, ईस्टर्न पेरिफेरल और एक्सप्रेसवे का सफर होगा सुहाना

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के जगनपुर अफजलपुर के पास यमुना एक्सप्रेसवे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए इंटरचेंज बनना है। इसको बनाने के लिए वर्ष 2018 में कंपनी का चयन हो गया था।

जगनपुर अफजलपुर इंटरचेंज से जुड़ेंगे यमुना सिटी के सेक्टर, ईस्टर्न पेरिफेरल और एक्सप्रेसवे का सफर होगा सुहाना
Praveen Sharmaग्रेटर नोएडा। हिन्दुस्तानTue, 21 Nov 2023 08:05 AM
ऐप पर पढ़ें

यमुना एक्सप्रेसवे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए ग्रेटर नोएडा में जगनपुर अफजलपुर के पास बनने वाले इंटरचेंज से अब यमुना सिटी के सेक्टर भी जुड़ेंगे। इसके लिए 60 मीटर और 30 मीटर चौड़ी सर्विस रोड पर उतार-चढ़ाव के लिए रास्ते बनाए जाएंगे। इस काम में करीब 59 करोड़ रुपये खर्च होंगे, जबकि दोनों एक्सप्रेसवे को जोड़ने में करीब 122 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यमुना प्राधिकरण का दावा है कि जल्द ही इस इंटरचेंज का काम शुरू हो जाएगा।

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के जगनपुर अफजलपुर के पास यमुना एक्सप्रेसवे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए इंटरचेंज बनना है। इसको बनाने के लिए वर्ष 2018 में कंपनी का चयन हो गया था। किसानों की मांगों के चलते काम नहीं शुरू हो पाया। अब काम शुरू होने की उम्मीद है। इंटरचेंज बनाने के लिए वर्ष 2018 में 75 करोड़ रुपये में ठेका दिया गया था। पांच साल में निर्माण लागत बढ़ गई। इसका दोबारा आकलन कराया गया। अब इसके निर्माण पर 122.89 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके निर्माण में अधिक हिस्सेदारी एनएचएआई को देनी है। एनएचएआई ने भी बढ़ी रकम देने के लिए हामी भर दी है।

NCR के लोगों के लिए गुड न्यूज, बल्लभगढ़ से 3 एक्सप्रेसवे पर जाने की राह होगी आसान, इन इलाकों को होगा फायदा

प्राधिकरण खर्च वहन करेगा : अभी तक दोनों इंटरचेंज को जोड़ा जाना था ताकि यमुना एक्सप्रेसवे के वाहन ईस्टर्न और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के वाहन यमुना एक्सप्रेसवे पर आ-जा सकें। इसमें यमुना प्राधिकरण के सेक्टर नहीं जुड़ रहे थे। अब यमुना प्राधिकरण के सेक्टर को भी जोड़ा जाएगा। इसके लिए यमुना प्राधिकरण ने योजना तैयार कर ली है। प्राधिकरण ने इसकी डिजाइन में परिर्वतन करा लिया है। इंटरजेंच के उतार और चढ़ाव के रास्ते प्राधिकरण की 30 और 60 मीटर चौड़ी सर्विस रोड पर भी उतरेंगे। इससे प्राधिकरण के सेक्टर जुड़ जाएंगे। इस पर करीब 59 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह खर्च प्राधिकरण वहन करेगा।

योग-पर्यटन और अध्यात्म से होगी यमुना सिटी की पहचान, क्या होगा आकर्षण का केंद्र

सड़कों पर पार्किंग के लिए टेंडर जारी : शहर में अलग-अलग स्थानों पर सरफेस (सड़क किनारे) पार्किंग शुरू करने के लिए नोएडा प्राधिकरण की तरफ से टेंडर जारी किए गए हैं। ये टेंडर क्लस्टर-1, 3 और 5 एरिया के लिए जारी किए गए हैं। महत्वपूर्ण यह है कि सेक्टर-18 को छोड़कर शहर में सरफेस पार्किंग करीब एक साल से मुफ्त चल रही है। इस एक साल में पार्किंग शुरू करने के लिए नोएडा प्राधिकरण की ओर से पांच-छह बार टेंडर जारी किए गए, लेकिन कंपनी का चयन नहीं हो सका।

सेक्टर-17बी और 25 में भूखंड देने की तैयारी

किसान एनएचएआई के बराबर मुआवजा और आबादी भूखंड की मांग रहे हैं। यमुना प्राधिकरण मुआवजे के लिए पहले ही सहमति दे चुका है। मुआवजे के लिए प्राधिकरण ने एडीएम एलए को करीब 22 करोड़ रुपये दे दिए हैं। अब प्राधिकरण ने जगनपुर अफजलपुर के पास आबादी के भूखंड देने की हामी भर ली है। प्राधिकरण किसानों को सेक्टर-17बी और सेक्टर-25 में भूखंड देगा। इसके लिए करीब 250 भूखंड की जरूरत होगी। इसके लिए करीब 17 हेक्टेयर जमीन की जरूरत पड़ेगी।

वाहन चालकों को राहत मिलेगी 

जगनपुर अफजलपुर इंटरचेंज न बनने से वाहन चालकों को परेशानी होती है। अगर कोई यमुना एक्सप्रेसवे से आ रहा है और उसे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर आना है तो उसे परी चौक आकर सिरसा जाना पड़ेगा। जहां पर इंटरचेंज बनना है, वहां से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे का सिरसा इंटरचेंज करीब 20 किलोमीटर है। इसके बनने से यह दूरी घट जाएगी। समय और ईंधन दोनों बचेगा। अब यमुना प्राधिकरण के सेक्टर भी जुड़ जाएंगे।

बोर्ड बैठक में रखा जाएगा प्रस्ताव

किसानों को मुआवजा, आबादी के लिए भूखंड और सेक्टर को जोड़ने के लिए आने वाली लागत का प्रस्ताव आगामी बोर्ड बैठक में रखा जाएगा। प्राधिकरण की बोर्ड बैठक 28 नवंबर को प्रस्तावित है। बोर्ड की मुहर के बाद इन पर काम शुरू हो जाएगा।

-डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण, ''यमुना और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए बनने वाले इंटरचेंज से यमुना सिटी के सेक्टर जोड़े जांएगे। इसके लिए 59 करोड़ रुपये खर्च होंगे।''