ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRग्रेटर नोएडा के किसानों की आएगी मौज, यीडा बनाएगा लैंड बैंक, 5000 हेक्टेयर जमीन खरीदने का प्लान

ग्रेटर नोएडा के किसानों की आएगी मौज, यीडा बनाएगा लैंड बैंक, 5000 हेक्टेयर जमीन खरीदने का प्लान

ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में रहने वाले किसानों के लिए जरूरी खबर है। यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) वर्तमान और आगामी योजनाओं को पूरा करने को लैंड बैंक तैयार करेगा।

ग्रेटर नोएडा के किसानों की आएगी मौज, यीडा बनाएगा लैंड बैंक, 5000 हेक्टेयर जमीन खरीदने का प्लान
Praveen Sharmaग्रेटर नोएडा। हिन्दुस्तानMon, 04 Dec 2023 10:18 AM
ऐप पर पढ़ें

ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में रहने वाले किसानों के लिए जरूरी खबर है। यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) वर्तमान और आगामी योजनाओं को पूरा करने के लिए लैंड बैंक तैयार करेगा। यीडा आगामी छह से आठ महीने में करीब पांच हजार हेक्टेयर जमीन खरीदेगा। जमीन खरीद में फंड की कमी नहीं आएगी। इसके लिए प्राधिकरण को सरकार से भी ब्याज मुक्त ऋण मिलेगा। प्राधिकरण अधिग्रहण के लिए जिला प्रशासन को प्रस्ताव भेजेगा।

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में तमाम बड़ी परियोजनाओं पर काम चल रहा है। कई बड़ी परियोजनाएं आने वाली हैं। इसके चलते प्राधिकरण क्षेत्र में जमीन की मांग काफी बढ़ गई है। लैंड बैंक बनने से परियोजनाओं को मूर्त रूप देने में जमीन की दिक्कत नहीं आएगी।

इन सेक्टर के लिए खरीदेंगे जमीन : यमुना प्राधिकरण बहुत जल्द सेक्टर पांच, सात और आठ के लिए जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेजेगा। इसके अलावा प्राधिकरण पहले ही सेक्टर 28, 29, 32 व 33 में किसानों से सहमति के आधार पर जमीन खरीद रहा है। सेक्टर-10 के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। एसआईए हो चुका है। गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय की टीम ने एसआईए किया है। अब इसके लिए धारा 11 की अधिसूचना जारी होने वाली है।

सरकार से और मिलेगा फंड : जमीन अधिग्रहण में प्राधिकरण के सामने फंड की समस्या नहीं आएगी। हाल ही में प्राधिकरण को प्रदेश सरकार ने 1779 करोड़ रुपये दिए हैं। यह राशि ब्याज मुक्त है और 25 साल में वापस करनी होगी। इससे प्राधिकरण जमीन खरीदेगा। इसके अलावा सरकार और पैसा भी प्राधिकरण को देगी।

-डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण, ''विकास परियोजनाओं के लिए लैंड बैंक तैयार किया जाएगा। पांच हजार हेक्टेयर जमीन अधिगृहीत करने की योजना है। इसके लिए प्रशासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें