DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  सागर राणा हत्याकांड : सुशील कुमार के चार और साथी गिरफ्तार, काला असौदा और नीरज बवाना गैंग के सदस्य हैं चारों
एनसीआर

सागर राणा हत्याकांड : सुशील कुमार के चार और साथी गिरफ्तार, काला असौदा और नीरज बवाना गैंग के सदस्य हैं चारों

नई दिल्ली। भाषाPublished By: Praveen Sharma
Wed, 26 May 2021 12:29 PM
सागर राणा हत्याकांड : सुशील कुमार के चार और साथी गिरफ्तार, काला असौदा और नीरज बवाना गैंग के सदस्य हैं चारों

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में हुई 23 वर्षीय पहलवान सागर राणा की कथित हत्या के मामले में मुख्य आरोपी ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार के चार और साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बुधवार को बताया कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के झज्जर जिले के रहने वाले भूपेंद्र (38), मोहित (22), गुलाब (24) और रोहतक जिले के रहने वाले मंजीत (29) के रूप में की गई है।

पुलिस ने बताया कि ये लोग काला असौदा और नीरज बवाना गिरोह के सक्रिय सदस्य हैं और इन्हें मंगलवार की रात को दिल्ली के कंझावला इलाके से गिरफ्तार किया गया था। दिल्ली पुलिस की रोहिणी जिले की स्पेशल स्टाफ टीम ने एक खुफिया सूचना मिलने पर ये गिरफ्तारियां की हैं। गिरफ्तार किए गए ये सभी लोग सुशील कुमार के साथी हैं और छत्रसाल स्टेडियम में हुए झगड़े में शामिल थे। उन्होंने बताया कि घटना के संबंध में इनके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किए गए।

पूछताछ में घबराए हुए दिखे पहलवान सुशील कुमार, बार-बार बदलते रहे बयान

मामला स्टेडियम में गत चार मई को हुई उस घटना से संबंधित है जिसमें पहलवान सागर की मौत हो गई थी और उसके दो दोस्त सोनू और अमित कुमार तब घायल हो गए थे, जब उन पर सुशील कुमार और अन्य पहलवानों ने हमला किया था। कथित तौर पर यह झगड़ा मॉडल टाउन इलाके में स्थित एक संपत्ति पर विवाद को लेकर हुआ था।

काला जठेड़ी पर कसा शिकंजा, दिल्ली पुलिस ने लगाया मकोका, अलग-अलग राज्यों में 7 लाख का है इनाम

पहलवान सुशील कुमार पर गिरी गाज, उत्तर रेलवे ने किया नौकरी से सस्पेंड

पुलिस उपायुक्त (रोहिणी) प्रणव तायल ने कहा कि जिले की स्पेशल स्टाफ को सूचना मिली थी कि इस मामले में शामिल काला असौदा और नीरज बवाना गिरोह के चार लोग अपने साथी काला से मिलने घेवरा गांव आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सूचना के आधार पर हमारी टीम ने घेवरा रेलवे क्रॉसिंग के पास जाल बिछाया और एक गुप्त खबरी के जरिए पहचान करने के बाद चारों को पकड़ लिया। पूछताछ में सभी चारों आरोपियों ने सिलेसिलेवार ढंग से घटना के बारे में बताया और अपराध में शामिल अन्य लोगों की जानकारियां दीं। डीसीपी ने कहा कि उन्होंने यह भी बताया कि उन्होंने घटनास्थल पर ही अपने वाहन और हथियार छोड़ दिए थे।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बाहरी दिल्ली के मुंडका इलाके से सुशील कुमार और उसके साथी अजय को रविवार को गिरफ्तार किया था। यह मामला अपराध शाखा को सौंप दिया गया है जो मामले की तफ्तीश कर रही है। 

पुलिस ने कहा कि भूपेंद्र अपहरण, हत्या, लूट, धोखाधड़ी, दंगा और अन्य गंभीर अपराधों के नौ मामलों में शामिल है, जबकि मोहित और मंजीत के खिलाफ क्रमश: पांच और चार मामले हैं। उन्होंने बताया कि गुलाब पहले भी दो मामलों में शामिल रहा है।

जानिए कैसे हुई थी पहलवान सागर राणा की मौत, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हुआ खुलासा 

संबंधित खबरें