DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र ने कहा- किसानों को पराली जलाने से रोकने को जिम्मेदारी से काम करें राज्य

stubble burning

केंद्र सरकार ने दिल्ली के पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा से गुरुवार को अपील की कि वे प्रदूषण नियंत्रित करने की दिशा में धान की पराली जलाए जाने से रोकने के लिए पूरी गंभीरता तथा जिम्मेदारी से काम करें। केंद्रीय पर्यावरण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि केंद्र सरकार हर स्तर पर मामले की निगरानी कर रही है।

वायु प्रदूषण : पड़ोसी राज्यों में जल रही पराली से दिल्ली बेहाल

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं अपील और प्रार्थना कर रहा हूं। मुझे उम्मीद भी है कि राज्य इस मुद्दे पर पहले की अपेक्षा अधिक गंभीरता और जिम्मेदारी से काम करेंगे। उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने राज्यों के मंत्रियों और अधिकारियों से इस बारे में बैठकें की हैं और किसानों को जरूरी उपकरण 15 अक्टूबर तक वितरित करने को कहा है।

पराली जलाने के मामलों में आई कमी

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, हर्षवर्धन ने कहा कि इसके लिए केंद्र सरकार पहले ही 500-600 करोड़ रुपये दे चुकी है। उन्होंने कहा कि राज्यों से इस मसले पर गंभीरता से काम करने को कहा गया है। नौ अक्टूबर तक के आंकड़ों के अनुसार, पराली जलाने के मामले इस साल 2016 और 2017 की तुलना में काफी कम रहे हैं।

पराली जलाने वाले किसानों को पंचायत चुनाव लड़ने से रोकने पर विचार

केंद्र सरकार के राज्यों के संपर्क में होने की बात कहते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके लिए हमें जागरूकता तथा सामाजिक कार्यक्रम बढ़ाने की जरूरत है। सरकार को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। यदि दिल्ली इस कारण दिक्कत में होती है तो देश की अंतरराष्ट्रीय छवि खराब होती है।

लोगों को स्वस्थ रखना हर किसी की जिम्मेदारी

हर्षवर्धन ने कहा कि किसानों और राज्यों के लिए संदेश बेहद साफ है कि यदि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाई जाती है तो सिर्फ दिल्ली पर प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन राज्यों में भी हवा प्रदूषित होगी और लोग फेंफड़े की बीमारी तथा सांस की दिक्कतों से प्रभावित होंगे। अंतत: लोगों को स्वस्थ रखना हर किसी की जिम्मेदारी है।

फिर जहरीली हुई दिल्ली की हवा, गुणवत्ता खराब श्रेणी में पहुंची

यह पूछे जाने पर कि क्या पंजाब इस मुद्दे पर सहमत नहीं होगा, उन्होंने कहा कि मैं एक आशावादी इंसान हूं और वे क्यों सहमत नहीं होंगे? यह किसी का व्यक्तिगत एजेंडा नहीं होकर सभी लोगों का एजेंडा है। मंत्री लाइट इंडिया प्रदर्शनी में बोल रहे थे। इस मौके पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने उद्योग जगत से विनिर्माण एवं निर्यात बढ़ाने के लिए काम करने को कहा।

गृह मंत्रालय ने चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से दी छूट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Work with sincerity responsibility on issue of stubble burning: Centre to states