ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRइंसानियत शर्मसार! सड़क हादसे में बुजर्ग महिला की मौत, मदद के बहाने कैश-जेवर चुराए

इंसानियत शर्मसार! सड़क हादसे में बुजर्ग महिला की मौत, मदद के बहाने कैश-जेवर चुराए

गाजियाबाद में एक महिला को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। मौके पर ही महिला की मौत हो गई। मदद की आड़ में किसी ने महिला के पास से नगदी, मोबाइल और जेवर चोरी कर लिए। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

इंसानियत शर्मसार! सड़क हादसे में बुजर्ग महिला की मौत, मदद के बहाने कैश-जेवर चुराए
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गाजियाबादTue, 28 May 2024 06:50 AM
ऐप पर पढ़ें

गाजियाबाद के विजयनगर थानाक्षेत्र के राहुल विहार में जल निगम के सामने महिला को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। मौके पर ही महिला की मौत हो गई। मदद की आड़ में किसी ने महिला के पास से नगदी, मोबाइल और जेवर चोरी कर लिए। शिकायत पर केस दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। विजयनगर थानाक्षेत्र के राहुल विहार प्रताप विहार निवासी अशोक रावत का कहना है कि 23 मई की सुबह करीब नौ बजे उनकी 60 वर्षीय मां मंजू रावत सत्संग में शामिल होने के लिए घर से नांगलोई दिल्ली के लिए निकली थीं। 

रास्ते में जल निगम के सामने अज्ञात वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी थी। हादसे में उनकी माता की मौके पर ही मौत हो गई थी। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। अशोक रावत का कहना है कि जब वह पहुंचे तो उनकी माता का मोबाइल, मंगलसूत्र, कानों के कुंडल और पर्स घटनास्थल पर नहीं मिले। हादसे के बाद किसी ने चोरी कर लिया। 

मंजू रावत के बेटे अशोक रावत का कहना है कि उनकी बहन के बच्चे भी उनकी मां के साथ रहते हैं। उनकी मां अकसर बहन के बच्चों को साथ लेकर ही आती-जाती थीं, लेकिन 23 मई को वह अकेले ही सत्संग के लिए निकलीं और रास्ते में सड़क हादसे का शिकार हो गईं। अशोक रावत की पत्नी ने बताया कि उनकी सास धार्मिक प्रवृत्ति की थीं। उनके पर्स में चार से पांच हजार रुपये थे, जिन्हें वह सत्संग में दान करने जा रही थीं। उनका कहना है कि जिस जगह घटना हुई, वहां दूर-दूर तक कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं है।

पुलिस ने नहीं लगाई चोरी की धारा 

अशोक रावत ने अपनी शिकायत में मां का सामान गायब होने का जिक्र भी किया है, लेकिन नगर कोतवाली पुलिस ने चोरी की धारा तक नहीं लगाई। एसीपी कोतवाली प्रियाश्री पाल का कहना है शिकायत पर विजयनगर थाने में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मृतका के मोबाइल को सर्विलांस पर लगवा दिया गया है।

काले मोती मौके से मिले, लॉकेट गायब था

अशोक रावत का कहना है कि वह घटनास्थल पर गए तो उनकी मां के मंगलसूत्र के काले मोती तो बिखरे पड़े मिले, लेकिन मंगलसूत्र का सोने का लॉकेट और अन्य जेवर नहीं मिले। जिसने भी घटना को अंजाम दिया, उसे पता था कि क्या सामान चोरी करना है और क्या छोड़ना है। आरोपी उनकी मां की डायरी और चश्मा भी छोड़ गया। अशोक रावत के मुताबिक पुलिसकर्मियों ने उन्हें बताया कि मौके पर जाने पर मां का मोबाइल, जेवर, पर्स आदि नहीं था। ऐसे में उन्हें ट्रेस करना मुश्किल है। अशोक का कहना है कि जिसके पास उनकी मां का मोबाइल होगा, उसी के पास अन्य सामान भी होगा।