DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रह-नक्षत्रों की पूजा कराने के बहाने पुजारी ने मंदिर में युवती से की अश्लील हरकत

गुरुग्राम एक मंदिर के पुजारी द्वारा ग्रह-नक्षत्रों की पूजा कराने के बहाने युवती से छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया है। पीड़ित युवती की शिकायत पर महिला थाना सेक्टर-51 में आरोपी पुजारी के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

गुरुग्राम के एक सेक्टर की रहने वाली 19 वर्षीय युवती ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि 21 अगस्त को अपने ही सेक्टर में स्थित एक मंदिर में पूजा करने गई थी। मंदिर में उसे एक पुजारी मिला। पुजारी ने नाम, जन्मतिथि, जन्म का समय व जन्मस्थान व कुंडली के बारे में जानकारी ली। कहा ग्रह-नक्षत्रों की दिशा ठीक नहीं चल रही। पूजा व मंत्रों से ग्रह-नक्षत्रों का प्रकोप रोकना पड़ेगा। आरोप है कि ऐसी बाते करते हुए पुजारी उसे एक कमरे में ले गया। पूजा व मंत्रों के उच्चारण के बहाने उससे छेड़छाड़ की।

युवती ने आरोपी पुजारी के खिलाफ महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान राजस्थान के भरतपुर के रसिया गांव निवासी रमाकांत शर्मा पुत्र रसूली राम शर्मा के रूप में हुई है। आरोपी गुरुग्राम के एक सेक्टर के मंदिर में पुजारी का काम कर रहा था।

अगवा कर नाबालिग छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म

गुरुग्राम/नूंह (हिटी) | फिरोजपुर झिरका में शुक्रवार को एक नाबालिग छात्रा का बाइक सवार दो युवकों ने अपहरण कर लिया। दोनों छात्रा को भोंड रोड पर बने एक ज्वार के खेत में ले गए जहां आरोपियों ने नाबालिग से दुष्कर्म किया। लड़की के शोर मचाने पर एक महिला मदद के लिए आई, लेकिन तब तक दोनों आरोपी बाइक लेकर फरार हो गए।

पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत पर आफरीदी पुत्र जैकम निवासी भोंड एवं एक अज्ञात के खिलाफ पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। पुलिस आरोपी युवकों की तलाश में दबिश दे रही है। शिकायत के मुताबिक छात्रा किसी काम से सब्जी मंडी गई थी। बताया जा रहा है कि पीड़ित और आरोपी अलग-अलग समुदाय के हैं। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों में से एक युवक को भीड़ ने दबोच लिया था, लेकिन किसी की मदद मिलने के वह फरार हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:woman molested by temple priest under pretext of worship