ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRपास केवल 41 रुपये, फिर भी महिला ने लक्जरी होटल में बिताए 15 दिन, 6 लाख का बिल चुकाए बिना फरार

पास केवल 41 रुपये, फिर भी महिला ने लक्जरी होटल में बिताए 15 दिन, 6 लाख का बिल चुकाए बिना फरार

दिल्ली के एयरोसिटी स्थित एक लक्जरी होटल में एक महला 15 दिन तक ठहरी जबकि उसके पास केवल 41 रुपये थे। इस दौरान महिला पर लगभग 6 लाख रुपये का बिल बन गया। महिला होटल स्‍टाफ को मूर्ख बनाकर फरार हो गई।

पास केवल 41 रुपये, फिर भी महिला ने लक्जरी होटल में बिताए 15 दिन, 6 लाख का बिल चुकाए बिना फरार
Krishna Singhपीटीआई,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 12:16 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली पुलिस ने 6 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में आंध्र प्रदेश की एक महिला को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को बताया महिला दिल्ली के एयरोसिटी स्थित एक लक्जरी होटल में 15 दिन तक ठहरी और इस दौरान उस पर लगभग 6 लाख रुपये का बिल बन गया। हैरान करने वाली बात यह कि महिला के खाते में केवल 41 रुपये थे। महिला होटल स्‍टाफ को मूर्ख बनाकर फरार हो गई। होटल की ओर से शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने महिला की खोजबीन शुरू की और उसे गिरफ्तार कर लिया। 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, झांसी रानी सैमुअल नाम की महिला को दिल्ली के एयरोसिटी के एक लक्जरी होटल में लगभग 6 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आंध्र प्रदेश की इस महिला के हवाईअड्डे के पास रुकने के पीछे के मकसद का अब तक पता नहीं चल सका है। दिल्ली पुलिस ने आंध्र प्रदेश पुलिस को यह जानने के लिए लिखा है कि क्या वे उसका वास्तविक पता और उसके परिवार के सदस्यों के बारे में विवरण प्रदान कर सकते हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि महिला से पूछताछ करने की कोशिश की गई है। महिला पुलिस को सहयोग नहीं कर रही है। पुलिस ने उससे बैंक खाते का विवरण दिखाने के लिए कहा, लेकिन वह ऐसा करने में विफल रही। पुलिस ने उसके पिछले खाते की जांच की तो पाया कि उसमें शेष राशि के रूप में केवल 41 रुपये थे। महिला की पहचान झांसी रानी सैमुअल के रूप में की गई है। महिला एयरपोर्ट के पास एयरोसिटी में स्थित पुलमैन होटल में 15 दिनों तक रुकी थी। उसने लगभग 5,88,176 रुपये का फर्जी लेनदेन किया था।

होटल के कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि महिला ने होटल की स्पा सुविधा में ईशा दवे नाम का एक फर्जी पहचान पत्र बनाया और 2,11,708 रुपये की सेवाओं का लाभ उठाया था। सैमुअल ने होटल के कर्मचारियों को दिखाया कि वह आईसीआईसीआई बैंक यूपीआई ऐप पर लेनदेन कर रही थी, लेकिन भुगतान मिलान के बाद पता चला कि बैंक को कोई भुगतान नहीं मिला है। पुलिस को शक है कि उसने जिस ऐप का इस्तेमाल किया वह संदिग्ध था। महिला ने बताया कि वह और उसका पति दोनों डॉक्टर हैं और न्यूयॉर्क में रहते हैं।

आरोपी सैमुअल की ओर से साझा की गई जानकारी की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है। सैमुअल को दिल्ली पुलिस ने 13 जनवरी को होटल स्टाफ की पीसीआर कॉल के बाद गिरफ्तार किया था। अधिकारी ने कहा, शुरुआत में उसे धोखाधड़ी के लिए गिरफ्तार किया गया था, लेकिन बाद में आईपीसी की धारा 419, 468 (धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी) और 471 (जाली दस्तावेज का इस्तेमाल करना) को एफआईआर में जोड़ा गया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें