ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRलोकसभा चुनाव से पहले एक्शन में डॉ. महेश शर्मा, केंद्र-यूपी से करेंगे किसानों के 'मन की बात'

लोकसभा चुनाव से पहले एक्शन में डॉ. महेश शर्मा, केंद्र-यूपी से करेंगे किसानों के 'मन की बात'

लोकसभा चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में बीजेपी सांसद महेश शर्मा किसानों की नाराजगी को खत्म करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। जब किसानों ने उनके घर का घेराव किया तो उन्होंने उनके मसले को उठाने का वादा किया।

लोकसभा चुनाव से पहले एक्शन में डॉ. महेश शर्मा, केंद्र-यूपी से करेंगे किसानों के 'मन की बात'
Sneha Baluniपीटीआई,नोएडाTue, 30 Jan 2024 12:33 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव से पहले गौतम बुद्ध नगर से बीजेपी सांसद डॉ. महेश शर्मा किसानों की नाराजगी को खत्म करने के लिए एक्शन मोड में आ गए हैं। उन्होंने किसानों से वादा किया कि वह उनकी समस्याओं को केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार के सामने उठाएंगे। सोमवार को महिलाओं सहित सैकड़ों लोगों ने सांसद के नोएडा स्थित घर का घेराव किया था। नोएडा सेक्टर-15ए के सामने मुख्य सड़क पर किसान मांगे पूरी नहीं होने पर करीब दो घंटे तक बैठे रहे। सांसद ने आश्वासन दिया कि जल्द उनकी मांगों को पूरा कराया जाएगा। इसके बाद किसान सड़क से हटे।

सैकड़ों किसानों ने दोपहर को सेक्टर 15 स्थित शर्मा के घर की ओर मार्च किया और स्थानीय अधिकारियों द्वारा अधिग्रहित उनकी भूमि का सही मुआवजा नहीं देने सहित कई मुद्दों को लेकर गेट के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के कारण कई रूट्स पर यातायात भी प्रभावित हुआ। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व भारतीय किसान परिषद के प्रमुख सुखबीर खलीफा ने किया। उन्होंने किसानों के मुद्दों के समाधान में 'बहुत देरी' करने पर स्थानीय सांसद के घर का घेराव करने का आह्वान किया था।

शर्मा ने एक सार्वजनिक स्पीकर का उपयोग करते हुए प्रदर्शनकारियों से कहा, 'मैं अपनी जिम्मेदारियों से पीछे नहीं हट रहा हूं। तुम्हारा मुझ पर अधिकार है और मेरा भी तुम पर अधिकार है। मैं कहीं नहीं जा रहा हूं। तुम भले ही मेरे लिए मौत की कामना करो लेकिन बाद में तुम मुझे ही गले लगाओगे। मुझे किसी से भी कोई दिक्कत नहीं है। मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि दिल्ली से लखनऊ तक, इस मुद्दे को उठाया जाएगा।'

शर्मा ने कहा, 'जब कोई मुख्यमंत्री किसी मुद्दे को उठाता है, तो वह पहले सरकारी अधिकारियों के साथ चर्चा करते हैं और उनकी सलाह लेते है। मैं एक मंत्री रहा हूं और मुझे पता है कि चीजें कैसे काम करती हैं। इसलिए यह लखनऊ में काम करने वाले अधिकारियों और मंत्रियों पर निर्भर करता है।' गौतम बुद्ध नगर में नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरणों के साथ-साथ एनटीपीसी द्वारा अधिग्रहीत उनकी भूमि के लिए ज्यादा मुआवजा और ग्रामीणों के लिए नौकरियों में आरक्षण जैसी अन्य मांगों को लेकर किसान समूहों द्वारा समय-समय पर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

खलीफा ने कहा, 'लोकतंत्र में लोगों के लिए काम होना चाहिए। जहां भी लोगों की आवाज नहीं सुनी जाती है, वहां डिविजन (विभाजन) और इस तरह के विरोध प्रदर्शन होते हैं। सांसद के घर के घेराव का कारण यह है कि काम नहीं किया गया है, लेकिन काम होना चाहिए।' खलीफा ने किसानों की समस्याओं के समाधान में हो रही देरी पर निराशा व्यक्त करते हुए आने वाले दिनों में दिल्ली में विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें