ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRडीएल के लिए रात में दे सकेंगे टेस्ट: तीन स्वचालित ट्रैक से शुरुआत, शाम पांच से रात आठ बजे तक बढ़ाया गया समय

डीएल के लिए रात में दे सकेंगे टेस्ट: तीन स्वचालित ट्रैक से शुरुआत, शाम पांच से रात आठ बजे तक बढ़ाया गया समय

बीते कई दिनों से इसका ट्रायल चल रहा था। अधिकारियों की मानें तो इन ट्रैकों पर ड्राइविंग टेस्ट का समय बढ़ने से रोजाना 400 के करीब स्लॉट बुकिंग बढ़ जाएंगी। इससे ड्राइविंग टेस्ट के लिए इंतजार कम होगा।

डीएल के लिए रात में दे सकेंगे टेस्ट: तीन स्वचालित ट्रैक से शुरुआत, शाम पांच से रात आठ बजे तक बढ़ाया गया समय
Swati Kumariवरिष्ठ संवाददाता,नई दिल्लीThu, 26 May 2022 06:03 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) बनवाने के लिए ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए अब आपको ऑफिस से छुट्टी नहीं लेनी होगी। दिल्ली सरकार ने तीन स्वचालित ड्राइविंग ट्रैक पर शाम 5 से रात 8 बजे के बीच ड्राइविंग टेस्ट की सुविधा शुरू की है। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बुधवार को इसकी शुरुआत की है।

बीते कई दिनों से इसका ट्रायल चल रहा था। अधिकारियों की मानें तो इन ट्रैकों पर ड्राइविंग टेस्ट का समय बढ़ने से रोजाना 400 के करीब स्लॉट बुकिंग बढ़ जाएंगी। इससे ड्राइविंग टेस्ट के लिए इंतजार कम होगा।

दिल्ली में 12 स्वचालित ड्राइविंग ट्रैक मौजूद हैं। पहले से समय लेकर ड्राइविंग टेस्ट देने की सुविधा उपलब्ध है। इस पर सुबह 8 से शाम 5 बजे तक ही ड्राइविंग टेस्ट की सुविधा है। सभी 12 ट्रैक पर रोजाना करीब 2500 स्लॉट की बुकिंग की जा सकती है, जबकि आवेदकों की संख्या इससे अधिक है। यही वजह है कि ड्राइविंग टेस्ट के लिए अभी दिल्ली में 25-30 दिन का वेटिंग टाइम मिलता है। अब ड्राइविंग टेस्ट का समय बढ़ाने से स्लॉट बुकिंग की संख्या बढ़ने के साथ इंतजार का समय भी कम हो सकेगा।

दिल्ली के जिन तीन (विश्वास नगर, मयूर विहार और सूरजमल विहार) ट्रैक पर स्वचालित ड्राइविंग टेस्ट की शुरुआत की गई है वहां बीते कई दिनों से ट्रायल चल रहा था। वहां रात में आसानी से टेस्ट हो सकें इसके लिए अपग्रेडेड कैमरा लगाया गया है।

यह रात में रिकॉर्डिंग करने में सक्षम है। हाईमास्ट लाइट भी लगाई गई है। परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अभी तीन घंटे का समय बढ़ाया गया है। दिल्ली में अब सभी 12 जगहों पर ड्राइविंग टेस्ट की सुविधा रात में बढ़ाई जाएगी।

शिक्षण संस्थानों में ट्रैक बनेंगे
डीएल के बढ़ते आवेदनों और टेस्ट के लिए लंबे इंतजार को कम करने के लिए सरकार शैक्षणिक संस्थानों में जहां भी जगह उपलब्ध है वहां स्वचालित ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक बनाने की योजना पर काम कर रही है। अब तक इसके लिए आठ स्थान चिन्हित किए गए हैं। इसमें छह आईटीआई और दो विश्वविद्यालयों के परिसर शामिल हैं। जिन छह आईटीआई में यह बनाया जाएगा उनमें आईटीआई मयूर विहार, शाहदरा, नरेला, जेल रोड, पूसा रोड, जाफरपुर कलां और इसके अलावा महिला इंदिरा गांधी दिल्ली तकनीकी विश्वविद्यालय कश्मीरी गेट और दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय रोहिणी शामिल हैं। इसके लिए निविदा भी जारी कर दी गई है।

दिल्ली में यहां बने ट्रैक

● सराय काले खां

● मयूर विहार

● शकूरबस्ती

● बुराड़ी

● लोनी रोड

● रोहिणी

● राजा गार्डन

● द्वारका

● विश्वास नगर

● झड़ौदा कलां

● लाडो सराय

● हरि नगर

डीएल के लिए रोज 1500 आवेदन
दिल्ली में ड्राइविंग के लिए रोजाना 1500 आवेदन आते हैं। परिवहन विभाग के मुताबिक, यह संख्या बीते कुछ समय से बढ़ी है। कोविड के दौरान डीएल के रिन्यूल करने और नए डीएल बनने की प्रक्रिया बंद थी। अब जब बनना शुरू हुआ है तो भीड़ बढ़ गई है। यही वजह है कि रोजाना 2500 स्लॉट होने के बाद भी ड्राइविंग टेस्ट के लिए आवेदकों को 25-30 दिन का इंतजार करना पड़ रहा है।

epaper