ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRअरविंदर सिंह लवली क्यों नहीं चाहते थे AAP-कांग्रेस का गठबंधन, बताई वजह

अरविंदर सिंह लवली क्यों नहीं चाहते थे AAP-कांग्रेस का गठबंधन, बताई वजह

रविवार को दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने इस्तीफे में लिखा है कि वो कांग्रेस और 'आप' का गंठबंधन नहीं चाहते थे। उन्होंने इसकी वजह भी बताई है।

अरविंदर सिंह लवली क्यों नहीं चाहते थे AAP-कांग्रेस का गठबंधन, बताई वजह
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,दिल्लीSun, 28 Apr 2024 07:43 PM
ऐप पर पढ़ें

रविवार को दिल्ली के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने पार्टी को झटका दे दिया। लोकसभा चुनावों के बीच में लवली ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। उनके इस्तीफे के बाद कहा जा रहा था कि वो भारतयी जनता पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं। हालांकि, उन्होंने इस पर अपना स्पष्टीकरण देते हुए साफ कर दिया कि वो किसी दूसरी पार्टी में नहीं शामिल हो रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को लिखे इस्तीफे में लवली ने कांग्रेस-आप के गठबंधन को वजह बताई है। आइये जानते हैं कि आखिर लवली आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस का गठबंधन क्यों नहीं चाहते थे?

लवली क्यों नही चाहते थे AAP-कांग्रेस का गठबंधन
लवली ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को भेजे अपने इस्तीफे में कहा है, "दिल्ली कांग्रेस इकाई ऐसी पार्टी के साथ गठबंधन के खिलाफ थी जो कांग्रेस पार्टी के खिलाफ झूठे, मनगढ़ंत और दुर्भावनापूर्ण भ्रष्टाचार के आरोपों के आधार पर पार्टी बनी उस पार्टी के आधे कैबिनेट मंत्री अभी भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में हैं।" खरगे को लिखे इस्तीफे में लवली ने आगे लिखा, "इसके बावजूद, पार्टी (कांग्रेस) ने दिल्ली में ‘आप’ से गठबंधन करने का फैसला लिया। हमने पार्टी के निर्णय का सम्मान किया.. मैं सुभाष चोपड़ा और संदीप दीक्षित के साथ केजरीवाल की गिरफ्तारी वाली रात को उनके आवास पर भी गया, जबकि यह इस मामले में मेरे पद के खिलाफ था।" इस दौरान लवली ने यह भी कहा कि वो और कांग्रेस कार्यकर्ता जिन आदर्शों के लिए पिछले 7-8 सालों से लड़ रहे थे, अब उन्हें उन आदर्शों से समझौता करना पड़ रहा है।

लवली के इस्तीफे के बाद कहा जाने लगा कि वो भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने जा रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान ने यहां तक दावा कर दिया कि भाजपा, लवली को पूर्वी दिल्ली से हर्ष मल्होत्रा की जगह अपना प्रत्याशी बनाने जा रही है। हालांकि, बाद में लवली ने इन सभी अटकलों का खंडन करते हुए कहा कि उन्होंने सिर्फ दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया है। वो किसी पार्टी में नहीं शामिल हो रहे हैं।