ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकौन हैं बॉबी कटारिया जिन्हें पुलिस ने किया अरेस्ट, यूट्यूबर का विवादों से है पुराना नाता; देहरादून कोर्ट ने जारी किया था वारंट

कौन हैं बॉबी कटारिया जिन्हें पुलिस ने किया अरेस्ट, यूट्यूबर का विवादों से है पुराना नाता; देहरादून कोर्ट ने जारी किया था वारंट

Who Is Bobby Kataria: गुरुग्राम पुलिस ने यूट्यूबर और सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बॉबी कटारिया को ह्यूमन ट्रैफिकिंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। उनपर विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने का आरोप है।

कौन हैं बॉबी कटारिया जिन्हें पुलिस ने किया अरेस्ट, यूट्यूबर का विवादों से है पुराना नाता; देहरादून कोर्ट ने जारी किया था वारंट
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 28 May 2024 07:44 AM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम पुलिस ने सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बलवंत उर्फ बॉबी कटारिया को ह्यूमन ट्रैफिकिंग के आरोप में  सोमवार को कसेंट वन मॉल से गिरफ्तार किया है।  पुलिस ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के साथ संयुक्त ऑपरेशन में यह एक्शन लिया है। यूट्यूबर के अलावा वडोदरा से मनीष हिंगू, गोपालगंज से प्रह्लाद सिंह, साउथ-वेस्ट दिल्ली से नाबियालम रे और चंडीगढ़ से सरताज सिंह को गिरफ्तार किया है।  आरोप है कि कटारिया ने लोगों को लाओस, कंबोडिया और वियतनाम में नौकरी का झांसा देकर लाखों रुपये लिए और वहां बंधक बनाकर उनसे साइबर अपराध करवाए गए। गुरुग्राम सेक्टर-10 की अपराध शाखा पुलिस बॉबी कटारिया से पूछताछ कर रही है।

कौन है बॉबी कटारिया

बॉबी कटारिया गुरुग्राम के एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर हैं। उन्हें दो लोगों की शिकायत पर पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिन्होंने आरोप लगया है कि यूट्यूबर ने विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर उनसे चार लाख रुपए की ठगी की। पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, शिकायतकर्ता, फतेहपुर के अरुण कुमार और उत्तर प्रदेश के धौलाना के मनीष तोमर ने कहा कि उन्होंने इंस्टाग्राम पर कटारिया के आधिकारिक इंस्टाग्राम पेज और यूट्यूब चैनल पर विदेश में काम करने का अवसर देने वाला एक विज्ञापन देखा था।

जब उन्होंने इंफ्लूएंसर से इसे लेकर संपर्क किया, तो उसने कथित तौर पर उन्हें गुरुग्राम के एक मॉल में अपने कार्यालय में मिलने के लिए बुलाया। कुमार ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया, 'मैं 1 फरवरी को बॉबी कटारिया से उनके कार्यालय में मिला और उन्होंने रजिस्ट्रेशन फीस के रूप में 2,000 रुपये लेने के बाद मुझे संयुक्त अरब अमीरात में नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। फिर मैंने उनके खाते में 1.5 लाख रुपये ट्रांसफर किए और मुझे वियनतियाने (वियनतियाने, लाओस की राजधानी) के लिए एक टिकट मिला।'

विवादों से है पुराना नाता

यह पहली बार नहीं है जब कटारिया पुलिस के रडार पर हैं। 2022 में, उन्हें हवाई जहाज के अंदर स्मोकिंग (धूम्रपान) करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इससे पहले इसी साल उन्होंने अपने इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर एक वीडियो शेयर किया था जिसमें वह सार्वजनिक रूप से शराब पीते और सड़क जाम करते नजर आए थे। इस मामले में देहरादून की एक अदालत ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। 2022 में ही कटारिया के खिलाफ एक महिला की पिटाई करने, सोशल मीडिया पर उसके बारे में अश्लील मैसेज पोस्ट करने और उसे जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया गया था। उन्हें पहले भी पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में गुरुग्राम में गिरफ्तार किया जा चुका है।

यू्ट्यूबर पर क्या लगे आरोप

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर निवासी अरुण कुमार और हापुड़ निवासी मनीष तोमर ने यूट्यूबर बॉबी कटारिया के खिलाफ गुरुग्राम के थाना बजघेड़ा में केस दर्ज करवाया था। शिकायत में उन्होंने बताया कि वे इंस्टाग्राम पर यूट्यूबर बॉबी कटारिया को फॉलो करते थे। कटारिया के यूट्यूब चैनल एमबीके पर उन्होंने विदेश में नौकरी दिलवाने का विज्ञापन देखा। इसके बाद उन्होंने उनसे संपर्क किया। नौकरी दिलवाने के लिए उन्हें सेक्टर-109 में कंसेंट वन मॉल स्थित अपने कार्यालय में बुलाया गया। गत एक फरवरी को अरुण कुमार ने बॉबी कटारिया से मुलाकात की और नौकरी के लिए उनके कार्यालय में दो हजार रुपये देकर पंजीकरण करवाया। इसके बाद बॉबी कटारिया ने अरुण से 50 हजार रुपये मांगे, जो 13 फरवरी को उनके एमबीके ग्लोबल वीजा प्राइवेट लिमिटेड के खाते में जमा करवा दिए। बॉबी कटारिया के कहने पर अरुण ने 14 मार्च को अंकित शौकिन नामक व्यक्ति के खाते में एक लाख रुपये भेजे। बॉबी ने अंकित शौकिन के मोबाइल से व्हाट्सऐप के माध्यम से लाओस का टिकट भेज दिया।