ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRमोटी कमाई, अस्पतालों की कमी; दिल्ली के बेबी केयर अग्निकांड आरोपी को यूं मिला था नवजात आईसीयू खोलने का आइडिया

मोटी कमाई, अस्पतालों की कमी; दिल्ली के बेबी केयर अग्निकांड आरोपी को यूं मिला था नवजात आईसीयू खोलने का आइडिया

दिल्ली के विवेक विहार में बेबी केयर सेंटर अग्निकांड का आरोपी डॉक्टर नवीन किची मोटी कमाई के लिए अब तक आधा दर्जन से ज्यादा चाइल्ड केयर सेंटर खोल चुका है। पहला सेंटर 2013 में पश्चिम पुरी में खोला था।

मोटी कमाई, अस्पतालों की कमी; दिल्ली के बेबी केयर अग्निकांड आरोपी को यूं मिला था नवजात आईसीयू खोलने का आइडिया
Sneha Baluniअमित झा,नई दिल्लीTue, 11 Jun 2024 05:56 AM
ऐप पर पढ़ें

विवेक विहार अग्निकांड का मुख्य आरोपी डॉक्टर नवीन किची मोटी कमाई के लिए अब तक आधा दर्जन से ज्यादा चाइल्ड केयर सेंटर खोल चुका है। कलावती अस्पताल में काम करने के दौरान उसे यह विचार आया। उसने देखा कि नवजात बच्चों के लिए छोटे आईसीयू अस्पताल नहीं है। उसने पहला सेंटर वर्ष 2013 में पश्चिम पुरी में खोला था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि डॉक्टर नवीन किची मूल रूप से रोहतक का रहने वाला है। वह बचपन से परिवार के साथ पश्चिम पुरी इलाके में रहता है। निजी स्कूल से 12वीं पास करने के बाद उसने मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया।

एमबीबीएस करने के बाद उसने लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2006 में एमडी (पीडियाट्रिक) में दाखिला लिया। इसके साथ ही उसने कलावती अस्पताल में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर के रूप में कार्य किया। कलावती राजधानी में नवजात बच्चों के उपचार का बड़ा अस्पताल है। इस दौरान उसने देखा कि दिल्ली में नवजात बच्चों के लिए आईसीयू की कमी है। लोगों को केवल महंगे अस्पताल में ही जगह मिलती है। उसे लगा कि अगर बड़े अस्पतालों के मुकाबले कम कीमत पर नवजात के लिए आईसीयू की सुविधा दी जाए तो अच्छी कमाई हो सकती है।

इसके लिए उसने वर्ष 2012 में पहली बार पश्चिम पुरी में चाइल्ड केयर सेंटर खोला। वर्ष 2013 में उसने डॉ. राजेश के साथ फरीदाबाद में वार्मर केयर सिस्टम के नाम से बच्चों का अस्पताल खोला, लेकिन वर्ष 2015 में वह उससे अलग हो गया। डॉक्टर नवीन ने वर्ष 2014 में द्वारका इलाके में भी ऐसा ही एक केंद्र खोला, जिसे बाद में किसी अन्य डॉक्टर को बेच दिया। 2015 में ही उसने विवेक विहार बी- ब्लॉक में न्यूबॉर्न चाइल्ड केयर सेंटर खोला था। इसके बाद उसने गुरुग्राम में भी ऐसा एक केंद्र खोला, लेकिन बाद में उसे अपने पार्टनर को बेच दिया।

प्लास्टिक का काम करता है परिवार

पुलिस के अनुसार डॉक्टर नवीन के परिवार वाले प्लास्टिक का कारोबार करते हैं। उसकी पत्नी भी डॉक्टर है। फिलहाल उसका परिवार पश्चिम विहार स्थित भैरा एन्क्लेव में रहता है।

आरोपपत्र जल्द दायर करने की तैयारी शुरू

विवेक विहार अग्निकांड मामले में पुलिस द्वारा जल्द ही आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। इसके लिए पुलिस ने लापरवाही से संबंधित कई दस्तावेज जुटा लिए हैं, जबकि कुछ अन्य दस्तावेजों का इंतजार किया जा रहा है।