DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद : बाइक सवार बदमाशों ने महिला प्रधान के बेटे को घर में घुसकर गोलियों से भूना

गाजियाबाद के लोनी इलाके के महमूदपुर गांव में बाइक सवार तीन बदमाशों ने महिला ग्राम प्रधान के बेटे की घर में ही गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। मृतक नहाकर घर के बरामदे में बैठा था, तभी बदमाश घर में घुस गए और पिस्टलों से ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। मृतक को 12 से ज्यादा गोलियां लगी हैं। गोलियों की आवाज सुनकर उनका बेटा बाहर आया और बदमाशों पर पथराव किया, लेकिन बदमाश बाइक पर सवार होकर भाग निकले। रास्ते में एक ग्रामीण ने भी बदमाशों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन बदमाश फायरिंग कर फरार हो गए। 

लोनी थाने के महमूदपुर गांव निवासी जगवती पत्नी रूपचंद का बेटा विक्रम (40) रविवार शाम करीब आठ बजे नहाने के बाद घर के बरामदे में बैठा था। इसी दौरान बाइक सवार तीन बदमाश घर में घुस गए और विक्रम के सिर और छाती को निशाने पर लेते हुए अंधाधुंध गोलियां दागनी शुरू कर दी। विक्रम को सिर और छाती में कई गोलियां लगीं और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। गोलियों की आवाज सुनकर उनका बेटा आशु बाहर निकला तो बदमाश घर के मुख्य दरवाजे की ओर भाग रहे थे। आशु ने बदमाशों पर पथराव किया, लेकिन वह भाग गए। रास्ते में बदमाशों को भागते देख एक ग्रामीण ने उन्हें रोकने का प्रयास किया, लेकिन बदमाशों ने उसके ऊपर भी गोली दागी और फरार हो गए। परिजनों ने पुलिस को घटना की सूचना दी। कुछ देर बाद ही लोनी थाना प्रभारी संजय पांडेय, सीओ राजकुमार पांडेय और एसपी देहात नीरज कुमार जादौन मौके पर पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

चेहरे और गर्दन पर एक दर्जन गोलियां लगीं

सीओ लोनी राजकुमार पांडे का कहना है मौके से गोलियों के तीन खोखे बरामद हुए हैं जबकि परिजनों ने बताया कि बदमाशों ने करीब डेढ़ दर्जन राउंड गोलियां दागी, जिनमें से एक दर्जन गोलियां विक्रम के सिर चेहरे और गर्दन पर लगी। बदमाशों के अचानक हमले के बाद विक्रम कमरे के अंदर भागने का प्रयास कर रहा था, लेकिन बरामदे में पड़े तारों में उलझ कर गिर गया और बदमाशों ने उनको गोलियों से छलनी कर दिया। विक्रम की हत्या आपसी रंजिश का परिणाम मानी जा रही है। हालांकि पुलिस की जांच पूरी होने के बाद उसकी हत्या का कारण स्पष्ट हो सकेगा। परिजन हत्यारों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए लोनी थाने पहुंच रहे हैं।

लोनी थाने का हिस्ट्रीशीटर था विक्रम

सूत्रों की मानें तो विक्रम आपराधिक प्रवृति का था। उसके विरुद्ध लोनी थाने में हत्या के कई मामले दर्ज हैं और लोनी थाने का हिस्ट्रीसीटर भी बताया जा रहा है, जबकि हरियाणा के फरीदाबाद और गुरुग्राम में उनके विरुद्ध हत्या आदि के कई मामले चल रहे हैं।.

गांव से बाहर है घर 

विक्रम का घर गांव से बाहर है, जिसके कारण बदमाशों को घर में घुसते समय गांव का कोई व्यक्ति देख नहीं पाया। विक्रम की हत्या के बाद बदमाश जंगल के रास्ते फरार हो गए।

गांव में दहशत का माहौल 

महमूदपुर गांव में दिन ढलते ही बदमाशों ने ग्राम प्रधान के बेटे की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी, जिससे समस्त क्षेत्र में दहशत का माहौल है। क्षेत्रवासियों का कहना है पुलिस रोजाना बदमाशों का एनकाउंटर कर रही है, लेकिन बदमाश का दुस्साहस कम नहीं हो रहा। बदमाश मनमाने तरीके से आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। बदमाशों में पुलिस का कोई खौफ नहीं रह गया है। बदमाश घरों में घुसकर गोलियों से भुनकर हत्या कर दे रहे हैं और पुलिस उनका बाल भी बाका नहीं कर पा रही है।

कई लोगों से थी रंजिश

एसएसपी सुधीर कुमार का कहना है विक्रम लोनी थाने का हिस्ट्रीशीटर था। हरियाणा में भी उसके विरुद्ध हत्या के कई मामले चल रहे हैं। उसकी विभिन्न लोगों से रंजिश थी। रंजिश के चलते ही उसकी हत्या हुई है। किन-किन लोगों से उसकी रंजिश थी, इसका पता किया जा रहा है। कुछ लोगों के नाम भी प्रकाश में आए हैं, उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम भेजी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Village Head Son Shot Dead by bike-borne miscreants in Ghaziabad Loni area