ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRDelhi-Mumbai Expressway : डीएनडी से सीधे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर चढ़ सकेंगे वाहन, यहां बन रहा कनेक्टर; 5 राज्यों को होगा फायदा

Delhi-Mumbai Expressway : डीएनडी से सीधे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर चढ़ सकेंगे वाहन, यहां बन रहा कनेक्टर; 5 राज्यों को होगा फायदा

राजधानी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे (Delhi-Mumbai Expressway) से जोड़ने वाले 60 किलोमीटर लंबे कनेक्टर पर तेजी से काम चल रहा है। अगले साल मई तक यह यातायात के लिए खोला जा सकता है।

Delhi-Mumbai Expressway : डीएनडी से सीधे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर चढ़ सकेंगे वाहन, यहां बन रहा कनेक्टर; 5 राज्यों को होगा फायदा
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानSat, 18 Nov 2023 10:53 AM
ऐप पर पढ़ें

Delhi-Mumbai Expressway : राजधानी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से जोड़ने वाले 60 किलोमीटर लंबे कनेक्टर पर तेजी से काम चल रहा है। अगले साल मई तक यह यातायात के लिए खोला जा सकता है। इसी के तहत डीएनडी को भी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे कनेक्टर से जोड़ा जाएगा, जिसके जरिये लोग सीधे एक्सप्रेसवे पर चढ़ सकेंगे। 

कनेक्टर का निर्माण हो रहा : दिल्ली में आश्रम से पहले रिंग रोड स्थित गोल चक्कर पार्क से कनेक्टर का निर्माण किया जा रहा है, जो सरिता विहार, फरीदाबाद, बल्लभगढ़ के रास्ते गुरुग्राम में वेस्टर्न पेरिफेरल लूप तक बन रहा है। यहां से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे भी गुजर रहा है। अब दिल्ली में गोल चक्कर पार्क से ही कुछ दूरी से डीएनडी भी गुजर रहा है। गोल चक्कर पार्क से तीन लेन चौड़ा रैंप कनेक्टर को जोड़ेगा। इससे रिंग रोड पर आईटीओ, सराय काले खां की तरफ से आने वाला ट्रैफिक सीधे फरीदाबाद (मुंबई एक्सप्रेसवे) की तरफ जा सकेगा। 

उतरने वालों के लिए भी सुविधा : मुंबई एक्सप्रेसवे की तरफ से आने वाला ट्रैफिक आश्रम की तरफ को उतरेगा। उसके लिए भी तीन रैंप बन रहे हैं। ऐसे में मुंबई एक्सप्रेसवे की तरफ से आने वालों को कनेक्टर से उतरकर सराय काले खां की तरफ जाने के लिए आश्रम अंडरपास एक्सटेंशन फ्लाईओवर के नीचे से यूटर्न लेकर जाना होगा।

पांच राज्यों को जोड़ेगा एक्सप्रेसवे, फरवरी में हुआ था उद्घाटन 

बता दें कि, 1,386 किलोमीटर लंबा यह दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र सहित पांच राज्यों से होकर गुजरेगा। दिल्ली में महज नौ किलोमीटर का सबसे छोटा हिस्सा है, जबकि एक्सप्रेसवे का अधिकांश हिस्सा 423 किलोमीटर गुजरात में होगा। यह एक्सप्रेसवे दिल्ली और मुंबई को कोटा, इंदौर, जयपुर, भोपाल, वडोदरा और सूरत जैसे स्थानों से जोड़ने वाले 40 से अधिक प्रमुख इंटरचेंज की सुविधा भी प्रदान करेगा। इस एक्सप्रेसवे दिल्ली के नजदीक बन रहे जेवर हवाईअड्डे और मुंबई में जवाहरलाल नेहरू पोर्ट से भी जोड़ा जाएगा। इससे दिल्ली और मुंबई के बीच की दूरी 180 किलोमीटर कम हो जाएगी।

एक लाख करोड़ रुपये की लागत से बन रहे इस दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पूरी तरह से शुरू होने के बाद देश की राजधानी दिल्ली और देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के बीच की महज कुछ घंटों में पूरी हो सकेगी। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के एक एक हिस्से का उद्धाटन इसी साल फरवरी में हुआ था। इसके पूरी तरह शुरू होने से लोगों को दिल्ली से मुंबई के अलावा राजस्थान व अन्य शहर में पहुंचना आसान होगा। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें