DA Image
8 अप्रैल, 2021|1:33|IST

अगली स्टोरी

गाजियाबाद में कोविड-19 वैक्सीन की बर्बादी रोकने को दोपहर बाद नहीं लगा रहे टीके

covid-19 vaccine

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की बर्बादी पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्यकर्मी दोपहर बाद टीकाकरण नहीं कर रहे हैं। अधिकांश केंद्रों पर दो बजे के बाद टीकाकरण बंद कर दिया जाता है। ऐसे में लोगों को वापस लौटना पड़ रहा है।

दरअसल कोविशील्ड वैक्सीन की एक वॉयल में दस डोज होती हैं। यदि एक वॉयल खोली जाती है तो सभी डोज चार से पांच घंटे के भीतर लाभार्थियों को लगानी होती हैं। यदि डोज बच जाती हैं तो उनको फेंकना पड़ता है। ऐसे में जिले में करीब आठ फीसदी डोज खराब हो रही थी। ग्रामीण क्षेत्र और कस्बों में बने स्वास्थ्य केंद्रों पर लाभार्थी काफी कम संख्या में पहुंच रहे थे। ऐसे में वैक्सीन खराब होने की संभावना अधिक रहती है। इसको लेकर विभाग ने सख्ती बरतते हुए केंद्र प्रभारियों को वॉयल खोलने पर नियंत्रण करने के निर्देश दिए।

जिले में वैक्सीन की कमी

स्वास्थ्य विभाग को पिछले कुछ दिनों से कोरोना वैक्सीन की कमी झेलनी पड़ रही है। लक्ष्य अधिक होने के कारण जिले में केंद्र अधिक बना दिए गए हैं। ऐसे में वैक्सीन की खपत भी बढ़ गई है, लेकिन शासन से इसकी आपूर्ति काफी कम हो रही है। अधिकांश निजी अस्पतालों को एक सप्ताह से वैक्सीन ही नहीं दी गई है।

''लक्ष्य के आधार पर वैक्सीन पर्याप्त है। लोग टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन लेने पहुंच सकते हैं। लाभार्थियों की संख्या कम होने पर वैक्सीन खराब हो जाती हैं, इसलिए दो या तीन लाभार्थी होने पर उनको अगले दिन बुलाया जाता है।'' -डॉ. एनके गुप्ता, सीएमओ

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:vaccination is not being done after noon in Ghaziabad to prevent wastage Covid-19 vaccine