ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली के लिए वरदान बनेगा अर्बन एक्सटेंशन रोड वाला प्लान, कम होगा 2.5 लाख वाहनों का जाम; जानें कहां से कहां तक है रूट

दिल्ली के लिए वरदान बनेगा अर्बन एक्सटेंशन रोड वाला प्लान, कम होगा 2.5 लाख वाहनों का जाम; जानें कहां से कहां तक है रूट

अर्बन एक्सटेंशन रोड-2 फरीदाबाद में दिल्ली-आगरा नेशनल हाईवे से शुरू होती है, जो दिल्ली-गुरुग्राम सीमा के पास से एयरपोर्ट को जोड़ते हुए द्वारका, नजफगढ़ के रास्ते सिंघु बॉर्डर तक बनाई जा रही है।

दिल्ली के लिए वरदान बनेगा अर्बन एक्सटेंशन रोड वाला प्लान, कम होगा 2.5 लाख वाहनों का जाम; जानें कहां से कहां तक है रूट
symbolic image
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानTue, 18 Jun 2024 05:37 AM
ऐप पर पढ़ें

Urban Extension Road-2 : दिल्ली में जाम खत्म करने के उद्देश्य से बनाई जा रही अर्बन एक्सटेंशन रोड (यूईआर-2) का काम अब अंतिम चरण में है। कुछ महीनों में रोड को पूरी तरह से यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। इससे पहले रोड को आधुनिक सर्विलांस सिस्टम से लैस किया जा रहा है, जिससे हर वाहन को आसानी से ट्रैक किया जा सके। नियम तोड़ने पर तत्काल चालान काटने की भी व्यवस्था होगी। इसके लिए एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (एटीएमएस) लगाया जाएगा, जो दोपहिया वाहन की जानकारी भी आसानी से निकलने में मदद करेगा।

नेशनल अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) के अधिकारी बताते हैं कि 75 किलोमीटर लंबी और छह लेन चौड़ी अर्बन एक्सटेंशन रोड-2 कई मायनों में खास होगी। यह सड़क दिल्ली के बड़े हिस्से में वाहनों का दबाव कम करने में मदद करेगी और वाहनों को ट्रैक करने के लिए एडवांस सिस्टम लगाया जाएगा। अभी तक जितने भी एक्सप्रेसवे पर एटीएमएस लगाया गया है वो वाहनों को ट्रैक तो करता है, लेकिन कई बार दोपहिया वाहनों को पूरी तरह से ट्रैक नहीं करता है, जिससे जिन एक्सप्रेसवे पर दोपहिया वाहनों को प्रतिबंधित किया जाता है, उन पर चालान काटने में समस्या होती है।

इस बार नेशनल हाईवे मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड (आईएचएमसीएल) ने ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर (एनएपीआर) कैमरों की संख्या बढ़ाने के साथ ही उनकी विजन क्वालिटी को बढ़ाया है। साथ ही, सिस्टम इस तरह से काम करेगा कि अगर कोई प्रतिबंधित वाहन सड़क पर प्रवेश करता है तो तत्काल उसका अलर्ट कंट्रोल रूम और स्थानीय ट्रैफिक पुलिस को मिलेगा, जिसके बाद चालान काटने में आसानी रहेगी।

इसमें वीडियो इंसीडेंट डिटेक्शन सिस्टम (वीआईडीएस) और वीडियो इंसीडेंट डिटेक्शन एंड इंफोर्समेंट सिस्टम (वीआईडीईएस) के साथ ट्रैफिक वायलेशन डिटेक्शन सिस्टम भी लगा होगा। यह सिस्टम वाहन और एनआईसी के ई-चालान सिस्टम को भी सपोर्ट करेगा, जिससे निर्धारित समय पर चालान काटने में मदद मिलेगी। नए सिस्टम को लगाने के लिए सभी नियम शर्तों को जोड़ते हुए इच्छुक कंपनियों से चार जुलाई तक निविदा भी आमंत्रित की गई है।

दिल्ली में वाहनों का दबाव घटने की उम्मीद

अर्बन एक्सटेंशन रोड-2 फरीदाबाद में दिल्ली-आगरा नेशनल हाईवे से शुरू होती है, जो दिल्ली-गुरुग्राम सीमा के पास से एयरपोर्ट को जोड़ते हुए द्वारका, नजफगढ़ के रास्ते सिंघु बॉर्डर तक बनाई जा रही है। यह रोड एयरपोर्ट के पास द्वारका एक्सप्रेसवे को भी जोड़ेगी, जिससे दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे की तरफ जाने भी आसान होगा। ऐसा अनुमान है कि इसके बनने से दिल्ली के अंदर करीब दो से ढाई लाख वाहनों का दबाव कम हो सकता है।