DA Image
13 अक्तूबर, 2020|1:14|IST

अगली स्टोरी

Unlock-5 : दिल्ली में 31 अक्टूबर तक कायम रहेगी यथास्थिति, साप्ताहिक बाजारों को और छूट

coronavirus

दिल्ली सरकार ने अनलॉक-5 के तहत राजधानी में सभी प्रकार की गतिविधियों पर 31 अक्टूबर तक यथास्थिति बनाए रखने का निर्णय किया है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) द्वारा बुधवार रात में जारी एक आदेश में मुख्य सचिव विजय देव ने कहा कि प्रत्येक नगर निगम जोन में दो साप्ताहिक बाजारों को अनुमति दी जाएगी। 

आदेश में कहा गया है कि शहर में सभी सामाजिक, शैक्षणिक, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रम के साथ ही अधिक लोगों वाले अन्य कार्यक्रम एवं सभाओं पर रोक रहेगी। इसमें कहा गया है कि विवाह संबंधी कार्यक्रमों में अधिकतम 50 व्यक्ति और अंतिम संस्कार एवं उसके बाद के संस्कारों में अधिकतम 20 व्यक्तियों को इजाजत होगी।

दिल्ली में चौथा SERO सर्वे 15 दिन में होगा शुरू

बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट जोन के बाहर और गतिविधियों को इजाजत देने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए थे। इसमें 15 अक्टूबर से सिनेमाघरों, थियेटर और मल्टीप्लेक्स को उनकी 50 प्रतिशत तक बैठने की क्षमता के साथ खोलना शामिल है।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 15 अक्टूबर के बाद स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने और कुछ शर्तों के साथ 100 लोगों की सीमा से अधिक वाले सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक समारोहों की अनुमति देने का निर्णय करने का अधिकार दिया है। 

दिल्ली में इस बार 25% लोगों में मिले एंटीबॉडी 

गौरतलब है कि दिल्ली हाईकोर्ट को बुधवार को बताया गया कि राजधानी दिल्ली में सितंबर में हुए कोविड-19 के सिरो सर्वे में 25 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी मिली हैं, जबकि पिछले महीने करीब 29 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी मिली थीं। 'आप' सरकार द्वारा दिल्ली में 1से 7 सितंबर के बीच कराए गए सिरो सर्वे के तीसरे चरण में ये परिणाम आए हैं।

जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद की बेंच के समक्ष यह रिपोर्ट रखी गई। बेंच राजधानी में कोविड-19 की जांच की संख्या बढ़ाने और तेज परिणाम के संबंध में दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी। अतिरिक्त स्थायी वकील सत्यकाम के जरिये दाखिल रिपोर्ट में दिल्ली सरकार ने उल्लेख किया है कि अगस्त में 28.7 प्रतिशत लोगों में जबकि सितंबर में 25.1 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी मिलीं। दिल्ली के उत्तर-पूर्वी, उत्तरी और मध्य जिलों सिरो सर्वे में कम लोगों में एंटीबॉडी मिलीं, जबकि दक्षिण, पूर्वी, पश्चिम और उत्तर-पश्चिम जिलों में ज्यादा लोगों में एंटीबॉडी मिलीं।

COVID-19 : दिल्ली में मौत का आंकड़ा 5400 के पार, आज दूसरे ठीक होने वालों की संख्या अधिक

सर्वे के सभी चरण में ज्यादा महिलाओं में एंटीबॉडी मिलीं। इसके अलावा 18 साल से कम उम्र के किशोर और 50 साल से अधिक उम्र के लोगों की तुलना में 18-49 आयु समूह के लोगों में कम एंटीबॉडी मिलीं। रिपोर्ट में कहा गया कि निचले सामाजिक-आर्थिक हैसियत वाले और अनियोजित कॉलोनियों में रहने वाले लोगों में एंटीबॉडी के ज्यादा मामले मिले। 

दिल्ली सरकार ने राजधानी में 17,409 लोगों पर सर्वे किया था। रिपोर्ट में कहा गया कि सर्वे के सभी चरण में बिना लक्षण वाले संक्रमण के ज्यादा मामले मिले। सिरो सर्वे में पाया गया कि करीब एक तिहाई भागीदार ऐसे थे जो पूर्व में कोविड-19 से संक्रमित हुए थे, लेकिन उनमें एंटीबॉडी नहीं मिलीं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसे प्रमाण हैं कि समय बीतने के साथ कोविड-19 के मामले में शरीर में एंटीबॉडी का स्तर घटता जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Unlock 5: Status quo in Delhi more relaxation for weekly markets amid COVID-19