ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमेरे पैसों से कबतक खाओगे...सुनकर तैश में आए छात्र के दोस्त, गला दबाकर मार डाला

मेरे पैसों से कबतक खाओगे...सुनकर तैश में आए छात्र के दोस्त, गला दबाकर मार डाला

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गला दबाकर हत्या करने से पहले यश को पीटा गया था। उसके शरीर पर चोट के निशान थे। हत्याकांड में शामिल एक आरोपी अभी फरार है।

मेरे पैसों से कबतक खाओगे...सुनकर तैश में आए छात्र के दोस्त, गला दबाकर मार डाला
Aditi Sharmaहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Mar 2024 10:13 AM
ऐप पर पढ़ें

 गजरौला के कारोबारी प्रदीप मित्तल के बेटे यश मित्तल की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। ग्रेटर नोएडा में यश की हत्या उस वक्त हुई जब वो अपने दोस्तों के साथ शराब पार्टी कर रहा था। पांच दोस्तों ने मिलकर यश की बेरहमी से हत्या कर दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गला दबाकर हत्या करने से पहले यश को पीटा गया था। उसके शरीर पर चोट के निशान थे। हत्याकांड में शामिल एक आरोपी अभी फरार है। यश ग्रेटर नोएडा के बेनेट यूनिवर्सिटी में बीबीए फर्स्ट ईयर का छात्र बताया जा रहा है।

दरअसल, यश मित्तल की दोस्ती गजरौला के ही रहने वाले शुभम चौधरी, रचित नागर, सुशांत वर्मा, शिवम सिंह और सुमित सिंह थी। आशंका है कि पैसे के लिए आरोपियों ने यश को अपना दोस्त बनाया। इनका मकसद उससे पैसे ऐंठना था। ऐसा अक्सर होता भी था कि वह हमेशा यश के पैसे से पार्टी करते थे। पुलिस के मुताबिक घटना के दिन भी आरोपी एक साथ बैठकर पार्टी कर रहे थे। इस बीच यश ने उनसे कहा था कि तुम मेरे पैसों से कब तक पार्टी करोगे। इसी बात को लेकर झगड़ा होने पर हत्या की बात सामने आ रही है। उधर नवंबर 2023 से आरोपियों ने यश से नजदीकी बढ़ाना शुरू किया था। बताया जा रहा कि इसी दौरान आरोपियों ने हत्या की साजिश रची। 

यश की हत्या में शामिल आरोपियों की आर्थिक स्थिति ज्यादा मजबूत नहीं है। आशंका है कि इनका मकसद यश के परिवार से मोटी रकम वसूलना था। इसीलिए छह करोड़ की फिरौती का मैसेज किया गया। लेकिन आरोपी अपने मकसद में कामयाब नहीं हुए और कानून के शिकंजे में फंस गए। गजरौला के एएसपी राजीव कुमार सिंह के मुताबिक यश की हत्या गला दबाकर की गई थी। इसके पहले उसकी पिटाई भी की गई थी। उसके शरीर पर चोट के कई निशान भी मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

घर पहुंचा शव तो मचा कोहराम

गुरुवार की दोपहर में यश का शव उसके घर पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। मां वर्षा मित्तल बदहवास थीं। आसपास मौजूद कई महिलाएं उन्हें संभालने में लगी थीं। इकलौते बेटे की हत्या से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। करीब एक घंटा शव घर पर अंतिम दर्शन के लिए रखने के बाद बृजघाट में अंतिम संस्कार किया गया।

गड्ढे में दबाया शव

शहर के एक निजी विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले यश की गलत लोगों से दोस्ती हत्या की वजह बनी। यश की दोस्ती अच्छे घर से संबंध रखने वाले युवकों से नहीं थी।  मूल रूप से जनपद अमरोहा के गजरौला का रहने वाला यश ग्रेटर नोएडा की एक निजी यूनिवर्सिटी से बीबीए की पढ़ाई कर रहा था। यश विश्वविद्यालय के हॉस्टल में रह रहा था मगर वह लगातार अपने गजरौला के दोस्तों के संपर्क में था। 26 फरवरी को दोस्तों ने उसे पार्टी करने के लिए बुलाया था। इसके बाद गजरौला ले गए। शराब पीने के दौरान किसी बात को लेकर पांच दोस्तों में विवाद हुआ। दोस्तों ने हत्या की और 6 फीट गड्ढे में उसके शव को दबा दिया । अब इस हत्या को फिरौती ना मिलने पर हत्या करने की घटना में परिवर्तन करने की योजना हत्यारों ने बनाई। इसके तहत शुभम, यश के फोन से मैसेज कर उसके परिजनों से 6 करोड रुपए की रंगदारी की मांग कर रहा था।

यूनिवर्सिटी से बाहर निकलने की फुटेज सामने आया

शहर की नामी यूनिवर्सिटी से बाहर निकलते हुए छात्र यश का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। छात्र यूनिवर्सिटी से बाहर निकलकर एक गाड़ी में बैठा था। बताया जा रहा है कि यश के आरोपी दोस्त उसे यहां से गाड़ी में बैठ कर गजरौला ले गए थे। इसके बाद जंगल में बैठकर इन्होंने पार्टी की और फिर घटना को अंजाम दिया।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें